ताज़ा खबर
 

चिटफंड घोटाले के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर कांग्रेस का प्रदर्शन

पश्चिम बंगाल कांग्रेस ने करोड़ों रुपये के चिटफंड घोटालों में शामिल लोगों पर तत्काल कार्रवाई और उन्हें गिरफ्तार करने की मांग करते हुए बुधवार को प्रदर्शन किया।

Author Updated: February 7, 2019 10:19 AM
तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी। (एक्सप्रेस आर्काइव)

पश्चिम बंगाल कांग्रेस ने करोड़ों रुपये के चिटफंड घोटालों में शामिल लोगों पर तत्काल कार्रवाई और उन्हें गिरफ्तार करने की मांग करते हुए बुधवार को प्रदर्शन किया। मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी द्वारा केंद्र के खिलाफ अपना तीन दिवसीय धरना खत्म करने के अगले दिन यह प्रदर्शन हुआ। बनर्जी चिट फंड मामलों में कोलकाता के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार से पूछताछ की सीबीआई की कोशिश के बाद के केंद्र के खिलाफ धरने पर बैठ गयी थीं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने अचरज से कहा कि किस बात ने बनर्जी को अपने खास पुलिस अधिकारी को पूछताछ से बचाने के लिए धरने पर बैठने को प्रेरित किया। उन्होंने सभा में कहा, ‘‘हम जानना चाहते हैं कि आखिर किस बात की वजह से सीबीआई को अपराधियों को गिरफ्तार करने इतना समय लग रहा है और दूसरा, मुख्यमंत्री एक खास पुलिस अधिकारी को क्यों बचाने की कोशिश कर रही हैं?’’

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि राज्य सरकार को कोलकाता के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार के खिलाफ सेवा आचरण नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में कार्रवाई करने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय का अभी कोई नोटिस नहीं मिला है। बनर्जी ने सचिवालय में पत्रकारों से कहा कि नोटिस मिलने पर मुख्य सचिव या गृह सचिव इसका जवाब देंगे।

मुख्यमंत्री से नई दिल्ली से आई उन रिपोर्टों के बारे में सवाल पूछा गया था जिसमें गृह मंत्रालय ने कुमार के खिलाफ अखिल भारतीय सेवा (आचरण) नियमों का उल्लंघन करने पर कदम उठाने को कहा था। कुमार ने तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष के यहां धरने में शामिल होकर अखिल भारतीय सेवा (आचरण) नियमों का कथित रूप से उल्लंघन किया है।

बनर्जी ने कहा, ‘‘ आज दोपहर ऐसा कोई पत्र प्राप्त नहीं हुआ है। कल होने वाले व्यापार सम्मेलन पर एक बैठक में मैंने मुख्य सचिव और गृह सचिव से पूछा था कि क्या इस तरह का कोई पत्र मिला है।’’ बनर्जी ने मंगलवार को गृह मंत्रालय के इस आरोप को ””सरासर झूठ”” बताया था कि शहर के पुलिस प्रमुख ने उनके धरने में हिस्सा लिया था। उन्होंने कहा था कि अफसर कभी भी मंच पर नहीं आए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 UP: छात्र दे रहे थे एग्जाम, अचानक हॉल में पहुंचे डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, देखी परीक्षार्थियों की कॉपी
2 रॉबर्ट वाड्रा के समर्थन में उतरीं ममता, कहा- नोटिस भेजने के हथकंडे से नहीं डरेगा विपक्ष
3 बिहार: शिक्षक अफजल ने वंदे मातरम गाने से किया इनकार, शिक्षा मंत्री बोले- राष्ट्रीय गीत की बेइज्जती बर्दाश्त नहीं