West Bengal CM Mamata Banerjee is to decide TMC panchayat poll winners post by checking their biodata - ममता ने मंगाया पंचायत चुनाव में जीते उम्मीदवारों का बायोडाटा, खुद सीएम तय करेंगी पोस्‍ट - Jansatta
ताज़ा खबर
 

ममता ने मंगाया पंचायत चुनाव में जीते उम्मीदवारों का बायोडाटा, खुद सीएम तय करेंगी पोस्‍ट

इस फॉर्म में नाम, उम्र, व्यवसाय, पोर्टफोलियो, राजनीति के क्षेत्र में अनुभव और पंचायत से संबंधित कामों से जुड़ी सारी जानकारी देनी होगी। फॉर्म भरने के बाद और उसे सेल्फ अटेस्टेड करने के बाद सभी विजेता इसे जिला पार्टी अध्यक्ष को सौंपेंगे, उसके बाद इस फॉर्म को कोलकाता स्थित टीएमसी के मुख्यालय पहुंचाया जाएगा।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फाइल फोटो- पीटीआई)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख ममता बनर्जी ने पंचायत चुनाव में जीते विजेताओं का सेल्फ अटेस्टेड बायोडाटा मंगाया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक ममता चाहती हैं कि वह साफ बैकग्राउंड के उम्मीदवार को ही पद दें, ताकि वह गांव में विकास कार्यों को ठीक तरह से अंजाम दे सके। सूत्रों के मुताबिक पश्चिम बंगाल की सीएम राज्य में पार्टी की जड़ों को और भी ज्यादा मजबूती देना चाहती हैं, इसलिए वह पंचायत स्तर पर अनुशासन कायम करने के प्रयास में हैं।

टीएमसी के एक वरिष्ठ नेता का कहना है, ‘जिले स्तर पर एक बड़ी मुहीम की जल्द ही शुरुआत होने जा रही है। पंचायत चुनाव में जीते सभी उम्मीदवारों के लिए एक फॉर्म तैयार किया गया है, जिसे हर विजेता को भरना होगा, फिर चाहे वह ग्राम पंचायत, पंचायत समिति या फिर जिला परिषद का ही क्यों न हो। विजेताओं को अपनी तस्वीर भी लगानी होगी।’ इस फॉर्म में नाम, उम्र, व्यवसाय, पोर्टफोलियो, राजनीति के क्षेत्र में अनुभव और पंचायत से संबंधित कामों से जुड़ी सारी जानकारी देनी होगी। फॉर्म भरने के बाद और उसे सेल्फ अटेस्टेड करने के बाद सभी विजेता इसे जिला पार्टी अध्यक्ष को सौंपेंगे, उसके बाद इस फॉर्म को कोलकाता स्थित टीएमसी के मुख्यालय पहुंचाया जाएगा।

उत्तरी बंगाल से पार्टी के एक वरिष्ठ नेता का कहना है, ‘हमने कई बार देखा है कि पार्टी के अंदर लॉबिंग की जाती है और ऐसे उम्मीदवार जो लायक नहीं होते हैं उन्हें पद दे दिया जाता है। फॉर्म भरने के बाद अब ऐसा कुछ नहीं होगा। इसके अलावा हमारी पार्टी प्रमुख की पहुंच गांव-गांव तक हो जाएगी। पूरा डाटा ममता बनर्जी की पर्सनल फाइल में रखा जाएगा।’ रिपोर्ट्स के मुताबिक टीएमसी ने झारग्राम, पुरुलिया और उत्तरी बंगाल के कुछ हिस्सों में जहां उसका प्रदर्शन निराशाजनक रहा है, वहां इसके पीछे के कारणों का पता लगाने के लिए काम करना शुरू कर दिया है। इन इलाकों में बीजेपी का प्रदर्शन अच्छा रहा था। टीएमसी द्वारा किए जा रहे प्रयासों से यह बात सामने आई है कि इन इलाकों में पार्टी के कुछ नेताओं के ऊपर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App