ताज़ा खबर
 

4000 वर्गफीट में बने 12 कमरे और मल्टीपल किचेन वाले बंगले में रहते हैं बैचलर दिलीप घोष, कार्यकर्ता प्यार से पुकारते हैं ‘नारू दा’, जेड सुरक्षा में 24 घंटे

राजनीति में अपनी मेहनत से नया मुकाम बनाने वाले दिलीप अब बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष हैं और मुख्यमंत्री बनने के सपने संजो रहे हैं। लोगों के बीच इस बात को लेकर काफी दिलचस्पी है कि बैचलर (कंवारे) दिलीप घोष इतने बड़े घर का क्या करेंगे।

दिलीप घोष पश्चिम बंगाल में बीजेपी के अध्यक्ष हैं।(फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल के बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष का अब नया पता राजरहट- न्यू टाउन एरिया है। उनका यह आवास एयरपोर्ट से महज 10 मिनट की दूरी पर है। उनका यह मकान काफी आलीशान है। 4000 वर्ग फीट में फैला इस मकान में चार थ्री बीएचके फ्लैट हैं। इसमें 12 कमरे और मल्टीपल किचन है। शुरुआत के दिन छोटे मे घर और फिर किराए के मकान में अपना जीवन बिताने वाले दिलीप घोष अब इस नए आलीशान मकान में रहेंगे।

राजनीति में अपनी मेहनत से नया मुकाम बनाने वाले दिलीप अब बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष हैं और मुख्यमंत्री बनने के सपने संजो रहे हैं। लोगों के बीच इस बात को लेकर काफी दिलचस्पी है कि बैचलर (कंवारे) दिलीप घोष इतने बड़े घर का क्या करेंगे। कार्यकर्ताओं के बीच दिलीप काफी लोकप्रिय हैं, कार्यकर्ता उन्हें प्यार से नारू दा कहकर पुकारते हैं। वहीं, घोष का कहना है कि उन्हें यह मकान एक बिजनेमैन ने दिया है। सुरक्षा कारणों के चलते गृह मंत्रालय ने उन्हें जेड प्लस सुरक्षा भी दी है। उनका पिछला तीन मंजिला मकान 20 सुरक्षाकर्मियों के लिहाज से तंग भरा था। अब वह अपने नए मकान में इन 20 सुरक्षाकर्मियों के रहने का भी इंतेजाम करेंगे।

डेली ओ की रिपोर्ट के मुताबिक घोष का नया मकान राजनीतिक कारणों से भी पार्टी के लिए मददगार साबित होगा। इस मकान की दूरी एयपोर्ट से महज 10 मिनट की दूरी पर है। ऐसे में बंगाल के चुनाव के दौरान आने वाले बड़े नेता भी एयरपोर्ट से यहां रुक सकेंगे और आराम फरमा सकेंगे। बंगाल में विधानसभा चुनाव नजदीक है। ऐसे में पार्टी की मीटिंग्स के लिए भी बड़े नेताओं को तंग सड़कों के रास्ते ज्यादा यात्रा नहीं करनी पड़ेगी। बंगाल में चुनाव के चलते अमित शाह भी महीने में हफ्ते से दस दिन के बंगाल आते जाते रहेंगे। ऐसे में घोष के आवास में ही उनके रहने की व्यवस्था की जाएगी।

2019 लोकसभा चुनाव में बंगाल में बीजेपी को मिली अभूतपूर्व सफलता के चलते पार्टी के प्रति व्यापारियों, नेताओं और बेरोजगार युवाओं में भरोसा बढ़ गया है। बीजेपी दफ्तर पर ऐसे लोगों की भीड़ जमा रहती है। कोरोना काल में भी पार्टी दफ्तर पर लोगों का जमावड़ा कम नहीं हुआ जिसके बाद बीजेपी नेता मुकुल रॉय और दिलीप घोष ने अपने घर से ही काम करना शुरू कर दिया। इस बीच बीजेपी सांसद लॉकेट चटैर्जी कोरोना संक्रमित भी पाईं गई जिसके बाद पार्टी दफ्तर को बंदकर सैनेटाइज किया गया। कोरोना के इस संकट में पार्टी नेता अपने आवास से ही काम कर रहे हैं।

Next Stories
1 सियासी उथल-पुथल के बीच बहन से राखी बंधवाने जोधपुर जाएंगे अशोक गहलोत
2 लॉकडाउन के बावजूद मस्जिद में सामूहिक नमाज़, रोका तो पुलिस पर पथराव; किसी तरह बिगड़ने से बचे हालात
3 लॉकडाउन में तंगी से मजबूर हुआ मजदूर: परिवार को पाल नहीं सका तो भेज दिया ससुराल, खुद दे दी जान
ये पढ़ा क्या?
X