ताज़ा खबर
 

बंगाल चुनावः BJP चीफ दिलीप घोष ने भाषायी मर्यादा की सारी हदें कीं पार, गाली दे ममता बनर्जी से पूछा- खून में क्या है, जो जय श्रीराम नहीं बोल सकतीं?

यहां आपको बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब दिलीप घोष ने इस तरह का विवादित बयान दिया हो।

west bengal, tcm, mamta banarjeeभाजपा नेता दिलीप घोष। फाइल फोटो

पश्चिम बंगाल में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। इस बार यहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कमल खिलाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है। चुनाव के ऐलान से पहले बीजेपी राज्य की सत्तारुढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस और उसकी मुखिया ममता बनर्जी पर जुबानी हमले करने का कोई मौका नहीं छोड़ रही है। राज्य बीजेपी के प्रमुख दिलीप घोष ने ‘जय श्री राम’ के नारे लगाने को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को घेरा। लेकिन ममता पर बयानों के तीर चलाते वक्त दिलीप घोष भाषायी मर्यादा लांघ गए। उन्होंने राज्य की सीएम को गाली भी दे दी।

दरअसल दिलीप घोष 24 परगना जिले के बनगांव में एक जनसभा को संबोधित करने पहुंचे थे। यहां उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को लेकर कहा कि ‘ वह राम की धरती पर एक #$#&& की तरह क्यों व्यवहार कर रही हैं? आखिर उनके खून में ऐसा क्या है कि वो जय श्री राम नहीं बोल सकती हैं? राम के देश में ही ऐसा व्यवहार क्यों किया जा रहा है?’ बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने आगे कहा कि ‘ममता बनर्जी कह रही हैं कि बदला नहीं, बदल दो लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि जब हम सत्ता में आएंगे तो हमारे कार्यकर्ताओं की मौत का बदला लेंगे।’

यहां आपको बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब दिलीप घोष ने इस तरह का विवादित बयान दिया हो। इससे पहले उन्होंने टीएमसी को लेकर कहा था कि ‘ममता दीदी के लोग जो शरारत करते हैं उनसे कहना चाहता हूं कि वह 6 महीने में खुद को ठीक कर लें, नहीं तो उनके हाथ, पैर, पसलियां और सिर तोड़ दिए जाएंगे। आपको घर जाने से पहले अस्पताल जाना होगा..अगर उनकी शरारत बढ़ती है तो उन्हें शमशान भेज दिया जाएगा।’

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल के चुनाव में बीजेपी ने 200 सीटों का लक्ष्य रखा है। पार्टी इस चुनाव में जीत के लिए एड़ी-चोटी का जोर अभी से ही लगा रही है। भाजपा ने ऐलान किया है कि वो 1 करोड़ से अधिक परिवार तक जाकर राज्य में ममता सरकार की नाकामियों के बारे में उन्हें बताएगी। इस अभियान की शुरुआत शनिवार (5 दिसंबर, 2020) से शुरू हो गई है। पार्टी इसके बाद इस अभियान के दूसरे चरण के तहत ‘अब और अन्याय नहीं’ नाम से अभियान चलाएगी। इसके तहत बीजेपी नेता टीएमसी के शासनकाल में अन्याय का सामना कर रहे लोगों के घर जाकर उनसे मुलाकात करेंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 लालू यादव को बंगले में कैसे रखा, फोन कैसे मिला? चीफ जस्टिस ने झारखंड सरकार से मांगा जवाब
2 कुंवर सिंह ने हाथ कटाया तो वाहवाही, रामफल की शहादत भुलाई- नीतीश की मंत्री शीला मंडल बोलीं
3 GHMC Polls में दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनी BJP, तेलंगाना अब अगला टारगेट; पिछड़ने पर बोले ओवैसी- जहां-जहां गए शाह और योगी, वहां हारी बीजेपी
ये पढ़ा क्या?
X