ताज़ा खबर
 

TMC नेता ने केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को बताया BJP का बंदर, कहा- उनके लिए आसनसोल में पिंजरा तैयार

टीएमसी सुप्रीमो और राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की नसीहत भी बेअसर होती नजर आ रही है। शुक्रवार (5 जुलाई) को ममता ने पार्टी कार्यकर्ताओं को बंद कमरे में हुई बैठक में नसीहत दी थी कि वे किसी भी पार्टी के साथ हिंसक झड़प में शामिल न हों।

Author आसनसोल | July 6, 2019 12:26 PM
टीएमसी नेता जे तिवारी (फोटो सोर्स: ANI)

पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस के नेताओं-कार्यकर्ताओं के बीच हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही। ताजा मामला आसनसोल में सामने आया है। दोनों पार्टियों के लोगों के बीच झड़प के बीच टीएमसी नेता ने केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को बीजेपी का बंदर तक कह दिया। आसनसोल में शुक्रवार (5 जुलाई) को हुई हिंसा के बाद पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज भी किया।

मोदी के मंत्री पर दिया ये बयानः आसनसोल के मेयर टीएमसी नेता जे तिवारी ने मोदी सरकार में मौजूदा मंत्री बाबुल सुप्रियो से कहा, ‘अगर आप बीजेपी के बंदर हैं तो आसनसोल में हमारे पास आपके लिए पिंजरा तैयार है। हम आप जैसे बंदरों को पिंजरे में रखने में सक्षम हैं।’ तिवारी ने आरोप लगाया कि बीजेपी के लोग हमला करने के मकसद से आए थे लेकिन वे नगर निगम के दरवाजे को भी छू तक नहीं पाए।

National Hindi News, 06 July 2019 LIVE Updates: दिनभर की तमाम अहम खबरों के लिए यहां क्लिक करें

बर्द्धमान में भी हुई थी झड़पः शुक्रवार को आसनसोल के साथ-साथ पश्चिम बंगाल के ही बर्द्धमान जिले में भी दोनों पार्टियों के समर्थकों में झड़प की खबर आई थी। इस घटना में दो लोगों के घायल होने की जानकारी मिली है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक घायलों को बर्द्धमान मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था।

Bihar News Today, 06 July 2019: बिहार से जुड़ी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

ममता ने दी थी नसीहतः टीएमसी सुप्रीमो और राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की नसीहत भी बेअसर होती नजर आ रही है। शुक्रवार (5 जुलाई) को ममता ने पार्टी कार्यकर्ताओं को बंद कमरे में हुई बैठक में नसीहत दी थी कि वे किसी भी पार्टी के साथ हिंसक झड़प में शामिल न हों। लेकिन ऐसी घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। राज्य में दोनों पार्टियों के बीच झड़प की लगतार खबरें आ रही हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App