ताज़ा खबर
 

पश्चिम बंगाल: तृणमूल-माकपा कार्यकर्ताओं में खूनी भिड़ंत, 3 की मौत

घटना के दौरान आसपास अफरा-तफरी का माहौल पनप गया था। आनन-फानन में जख्मी लोगों के पास के अस्पताल ले जाया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी) के कार्यकर्ताओं के बीच खूनी भिड़ंत हो गई। मंगलवार (28 अगस्त) रात को 24 परगना जिले के अमदंगा इलाके में हुई इस घटना में तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि 17 लोग बुरी तरह जख्मी हुए। मृतकों में दो की पहचान टीएमसी सदस्य (नासिर हल्दर और कुद्दुस गनी) के रूप में हुई, जबकि तीसरे मृतक की शिनाख्त माकपा सदस्य मुज्जफर अहमद के तौर पर की गई।

घटना के दौरान आसपास अफरा-तफरी का माहौल पनप गया था। आनन-फानन में जख्मी लोगों के बारासत, बैरकपुर और आरजी कर अस्पताल ले जाया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है। सूचना पर घटनास्थल पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। वरिष्ठ टीएमसी नेता और राज्य मंत्री ज्योतिप्रियो मल्लिक मामले की जानकारी पर जख्मी लोगों को हाल-चाल जानने अस्पताल पहुंचे थे।

उधर, पुलिस ने इस खूनी भिंड़त के मामले में 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अभी भी कई जगहों पर छापेमारी की जा रही है। घटना के मद्देनजर अमदंगा की तीनों ग्राम पंचायतों (ताराबेरिया, मोरिचा और बोदाई) में बोर्ड का गठन फिलहाल टाल दिया गया है। बता दें कि राज्य में बीते दिनों पंचायत बोर्ड के गठन को लेकर करीब आठ लोगों की हत्या कर दी गई थी।

बता दें कि इससे पहले सोमवार (27 अगस्त) को यहां के मालदा, पुरुलिया और उत्तरी 24 परगना जिले में पंचायत बोर्ड के गठन को लेकर हिंसा की घटनाएं हुई थीं। कुल चार लोगों की जान इनमें गई थीं, जबकि 12 लोग जख्मी हुए थे। मालदा की घटना में टीएमसी के दो कार्यकर्ता मारे गए थे। वहीं, पुरुलिया के जयपुर ब्लॉक स्थित घाघरा पंचायत में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के दो कार्यकर्ताओं को गोली मार दी गई थी।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इन घटनाओं पर कहा था कि ऐसी हिंसा की घटनाएं कतई नहीं बर्दाश्त की जाएंगी। बकौल सीएम, “यह नहीं होना चाहिए। मैंने प्रशासन से स्थिति से निपटने के लिए कहा है। एक खास वर्ग पुलिस को जानबूझ कर निशाना बना रहा है। उस दौरान हमारा एक पुलिसकर्मी भी चोटिल हो गया।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App