मौसम का कहर : उत्तर में लू चली, दक्षिण में तूफान की आशंका - Jansatta
ताज़ा खबर
 

मौसम का कहर : उत्तर में लू चली, दक्षिण में तूफान की आशंका

बंगाल की खाड़ी में बना गहरा दबाव अगले 48 घंटों में चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आशंका है। इसके चलते तमिलनाडु के उत्तरी समुद्र तटीय इलाके, पुडुचेरी और उत्तरी आंध्र प्रदेश में भारी बारिश हो सकती है।

Author नई दिल्ली/ चेन्नई | May 19, 2016 2:11 AM
बुधवार (18 मई) को चेन्नई में भारी बारिश के बाद सड़क पर जमा पानी। (PTI Photo)

मौसम के कहर के कारण उत्तर भारत लू के कहर से झुलस रहा है, वहीं दक्षिण भारत में अगले 48 घंटों में तूफान की आशंका है। भारत के मौसम विभाग ने दिल्ली, पंजाब, चंडीगढ़, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश और गुजरात के कई हिस्सों में आने वाले दिनों में अत्यंत भीषण लू की चेतावनी जारी की है। मौसम के कहर का हाल यह है कि दक्षिण भारत के राज्य तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश में अगले 48 घंटे के दौरान चक्रवर्ती तूफान की आशंका है। इसका असर पश्चिम बंगाल और ओड़ीशा पर भी पड़ सकता है। उधर दिल्ली के सफदरजंग में बुधवार (18 मई) को अधिकतम तापमान 43.3 और पालम में 46.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम विभाग ने बुधवार (18 मई) को दिल्ली, उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत के लिए अगले कुछ दिनों तक अत्यंत भीषण लू की चपेट में रहने का एलर्ट जारी किया है। मौसम पूर्वानुमान के अनुसार, ‘राजधानी के अलावा चंडीगढ़, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान और गुजरात में कई जगहों पर अत्यंत भीषण लू की स्थिति बनी रहेगी’। पंजाब में लू की स्थिति बताई गई है, लेकिन 20 मई को वहां अत्यंत भीषण लू का पूर्वानुमान है। इन क्षेत्रों में इस हफ्ते लू से राहत की कोई उम्मीद नहीं है। दिल्ली के सफदरजंग में बुधवार (18 मई) को अधिकतम 43.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से 3.5 डिग्री सेल्सियस अधिक है, वहीं न्यूनतम तापमान 26.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य रहा। दिल्ली का तापमान अगले दो-तीन दिनों तक 44 डिग्री के इर्द-गिर्द बने रहने का पूर्वानुमान है।

दिल्ली के लिए गुरुवार (19 मई) का पूर्वानुमान बताते हुए मौसम विभाग के अधिकारी ने कहा कि आसमान साफ रहेगा, शाम तक धूल भरी आंधी की संभावना है, लेकिन इससे गर्मी से कोई विशेष राहत नहीं मिलेगी। हालांकि उत्तर प्रदेश में सबसे गर्म स्थान बांदा रहा, जहां तापमान 47 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। भारत के मौसम विज्ञान में वरिष्ठ वैज्ञानिक आनंद शर्मा ने कहा, ‘लू की स्थिति अभी जारी रहेगी, इसलिए बच्चों और बुजुर्गों को दिन में 11 से 4 के बीच घर से बाहर निकलने से बचना चाहएि। हीट स्ट्रोक से बचने के लिए वयस्क भी जरूरत पड़ने पर ही बाहर निकलें और ज्यादा शारीरिक श्रम का काम नहीं करें क्योंकि डिहाइड्रेशन होने का खतरा बना रहता है।’

उधर बंगाल की खाड़ी में बना गहरा दबाव अगले 48 घंटों में चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आशंका है। इसके चलते तमिलनाडु के उत्तरी समुद्र तटीय इलाके, पुडुचेरी और उत्तरी आंध्र प्रदेश में भारी बारिश हो सकती है। चेतावनी दी गई है कि उत्तरी तमिलनाडु और पुडुचेरी में 55 से 65 किलोमीटर की गति से तूफानी हवाएं चलेंगी। समुद्र अति उग्र रहेगा और मछुआरों को सलाह दी गई है वे अगले 48 घंटों के दौरान समुद्र में प्रवेश न करें। चेन्नई और इसके आसपास के निचले इलाकों में एनडीआरएफ की चार टीमों को तैनात किया गया है। तमिलनाडु सरकार ने जिला कलेक्टरों को सभी एहतियाती कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। बारिश से संबंधित शिकायतों को प्राप्त करने के लिए तमिलनाडु सरकार ने 1070 नंबर भी तय किया है।

उधर आंध्र प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने सभी जिला कलेक्टरों को एहतियातन कदम उठाने का निर्देश दिया है। इसका असर पश्चिम बंगाल और ओड़ीशा पर पड़ने की आशंका भी जताई गई है। पश्चिम बंगाल में इसे ‘रुनू’ तूफान कहते हैं। अरुणाचल प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से हुई बारिश के चलते नोआ-देहींग नदी में उफान आने से नामसई जिले में कई इलाकों में पानी भर गया है। इस जिले के महादेवपुर 1, महादेवपुर 4 और काकोनी गांवों में पानी भर गया है। बाढ़ के पानी से पियोंग क्षेत्र के नामपोंग में तटबंध बुरी तरह से प्रभावित हुआ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App