ताज़ा खबर
 

कुख्यात आतंकी बुरहान वानी का बताया जाता था उत्तराधिकारी, सुरक्षाबलों के हाथों ढेर हुआ जाकिर मूसा

जम्मू-कश्मीर के त्राल में आतंक के पर्याय बन गए अंसार गजवातुल हिंद के सरगना जाकिर मूसा को सुरक्षा बलों ने गुरुवार (गुरुवार) की रात को मार गिराया। उस पर 12 लाख रुपए का इनाम था। उसके मारे जाने के बाद कश्मीर घाटी में हिंसा भड़कने की आशंका से प्रशासन ने शुक्रवार को घाटी के सभी स्कूल कालेज को बंद रखने का फैसला किया है।

Author नई दिल्ली | May 24, 2019 10:35 AM
मारा गया खूखार आतंकी जाकिर मूसा (फोटो-एएनआई)

जम्मू-कश्मीर के त्राल में आतंक के पर्याय बन गए अंसार गजवातुल हिंद के सरगना जाकिर मूसा को सुरक्षा बलों ने गुरुवार (गुरुवार) की रात को मार गिराया। उस पर 12 लाख रुपए का इनाम था। उसके मारे जाने के बाद कश्मीर घाटी में हिंसा भड़कने की आशंका से प्रशासन ने शुक्रवार को घाटी के सभी स्कूल कालेज को बंद रखने का फैसला किया है। इसके साथ ही मोबाइल इंटरनेट सेवा ठप कर दी गई। मूसा का मारा जाना आतंकवाद के मोर्चे पर सुरक्षाबलों के लिए बड़ी कामयाबी मानी जा रहा है। उसके मारे जाने के बाद घाटी में जगह-जगह धरना-प्रदर्शन शुरू हो गया। कई जगह पत्थरबाजों और सुरक्षाबलों में झड़पों की खबरें हैं।

दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले में त्राल के डडसारा में गुरुवार की शाम आतंकियों की मौजूदगी की सूचना पर 42 राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ एवं एसओजी ने इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया। आतंकी जहां छिपे थे सुरक्षा बलों ने वहां पहुंचकर उन्हें आत्मसमर्पण करने को कहा। लेकिन आंतकियों ने रॉकेट लांचर दाग दिया। इसके बाद सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में मूसा मार दिया गया। मूसा को उसी मकान में मार गिराया, जहां उसने पनाह ली थी।

मूसा को कश्मीर घाटी में आतंक का पोस्टर बॉय कहा जाता था। मूसा को कुख्यात आतंकी बुरहान वानी का उत्तराधिकारी बताया जारा है। यह घाटी का सबसे खूखार आतंकी था। जाकिर 2013 में हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ था। वह बुरहान वानी का लंबे समय तक सहयोगी रहा था। वह इस संगठन का कमांडर भी था। बाद में 2017 में वह अल कायदा के संगठन अंसार गजवातुल हिंद में शामिल हो गया। उसने हुर्रियत नेताओं का सिर कलम किए जाने की धमकी दी थी। इसके बाद से हिजबुल बाकी पेज 8 पर मुजाहिदीन ने उससे नाता तोड़ लिया था। संयोग है कि जाकिर मूसा को पुलवामा के लगभग उसी इलाके में मार गिराया गया है, जहां 2016 में सेना ने हिज्बुल के कमांडर बुरहान वानी को ढेर किया था

मुठभेड़ के बाद पूरी घाटी में सुरक्षा कड़ी कर दी गई। साथ ही प्रमुख तथा संवेदनशील स्थानों पर सुरक्षा घेरा बढ़ा दिया गया। जगह-जगह रास्ते पर नाके लगाकर वाहनों की चेकिंग शुरू कर दी गई। जम्मू कश्मीर प्रशासन ने कश्मीर डिवीजन में शुक्रवार को सभी स्कूल और कॉलेज बंद रखने का आदेश दिया है।
जाकिर मूसा के घिर जाने की खबर फैलते ही शोपियां, पुलवामा, अवंतिपोरा और श्रीनगर में प्रदर्शन शुरू हो गए। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने पुलवामा, अवंतिपोरा, श्रीनगर, अनंतनाग और बडगाम में एहतियाती तौर पर सुरक्षा बढ़ा दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X