ताज़ा खबर
 
title-bar

‘अपने लिए सबसे कठोर सजा चाहता हूं’ पुलिस से बोला बीवी और तीनों बच्चों को जान से मारने वाला सॉफ्टवेयर इंजीनियर

पुलिस की हिरासत में आने के बाद अपनी पत्नी व तीनों बच्चों के हत्यारे सॉफ्टवेयर इंजीनियर सुमित ने कहा, ‘‘अगर हो सके तो मुझे दुनिया की सबसे कठोर सजा दी जाए।’’

Author April 25, 2019 12:08 PM
पुलिस गिरफ्त में आरोपी सॉफ्टवेयर इंजीनियर सुमित। फोटो सोर्स : इंडियन एक्सप्रेस

‘मैं अपने लिए दुनिया की सबसे कठोर सजा चाहता हूं।’ यह लाइन गाजियाबाद के उस सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने पुलिस की हिरासत में आते ही कही, जिसने इंदिरापुरम में अपनी पत्नी और तीनों बच्चों को बेरहमी से मार डाला था। पुलिस ने बुधवार (24 अप्रैल) सुबह उसे कर्नाटक से गिरफ्तार किया। उसने पुलिस के सामने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। आरोपी ने बताया कि उसने पत्नी अंशु बाला (33), प्रथमेश (5) और जुड़वा बच्चों आरव व आकृति (दोनों 4 साल) का गला दबाने से पहले उन्हें नशे में कर दिया था।

आत्महत्या का झांसा देकर हुआ था फरार : बता दें कि सुमित ने वारदात को अंजाम देने के बाद अपने फैमिली वॉट्सऐप ग्रुप पर घटना का वीडियो भी डाला था। साथ ही, दावा किया था कि वह आत्महत्या करने जा रहा है, लेकिन वह ट्रेन से शहर छोड़कर चला गया। उसने पुलिस की हिरासत में आने के बाद पत्रकारों के सामने कहा, ‘‘अगर हो सके तो मुझे दुनिया की सबसे कठोर सजा दी जाए।’’

National Hindi News, 25 April 2019 LIVE Updates: दिनभर की बड़ी खबरें पढ़ें इस लिंक पर

वारदात को अंजाम देने का कारण भी नहीं बता पाया : गाजियाबाद के एसएसपी उपेंद्र अग्रवाल ने बताया, ‘‘हमने वारदात के 72 घंटे बाद ही आरोपी सुमित को गिरफ्तार कर लिया। उसे कर्नाटक के उडुपी से पकड़ा गया और गाजियाबाद ले आए हैं। उससे पूरे परिवार के कत्ल की वजह पूछी गई, तो उसने कहा कि वह नहीं जानता, उसने ऐसा क्यों किया। सुमित ने बताया कि आर्थिक तंगी और नशे की आदत की वजह से वह अपने परिवार का पालन-पोषण करने में असमर्थ था, जिसके चलते उसने यह कदम उठाया।’’

आरोपी ने ऐसे अंजाम दी वारदात : पुलिस के मुताबिक, सुमित ने पूछताछ में बताया कि वह अपने परिवार को जहर देकर मारना चाहता था, लेकिन उसे डर था कि कोई भी एक उठ गया तो वह दूसरों को भी सचेत कर देगा। ऐसे में उसने लोकल स्टोर से चाकू का एक डिब्बा खरीदा। इसके बाद उसने पत्नी व तीनों बच्चों को नशे की गोलियां देकर सुला दिया और चाकू से उनका गला रेत दिया। पुलिस ने बताया कि सुमित ने सबसे पहले अपने बड़े बेटे को मारा और उसके बाद जुड़वा बच्चों की हत्या की। बताया जा रहा है कि इस दौरान उसकी पत्नी उठ गई थी और उसने सुमित का विरोध भी किया था।

लूट का प्लान भी बना रहा था आरोपी : सुमित ने बताया कि वह कॉलेज के समय से नशे का आदी है और इससे छुटकारा पाना चाहता था। वह एक स्थानीय केमिस्ट मुकेश के संपर्क में था, जो उसे ड्रग्स मुहैया कराता था। पुलिस ने केमिस्ट को गिरफ्तार कर लिया है। सुमित ने बताया कि उसने अपने परिवार को आर्थिक दिक्कतों की जानकारी दी थी और इससे निपटने के लिए लूट का प्लान बताया था। परिवार ने इसका विरोध किया था।

केमिस्ट से ठगे थे एक लाख रुपए : पुलिस के मुताबिक, ऑनलाइन ट्रांजेक्शन में मदद करने के बहाने सुमित ने केमिस्ट से एक लाख रुपए ठग लिए थे। इनमें से 50 हजार रुपए में उसने ‘साइनाइड’ खरीदा था। वहीं, बाकी रुपए मकान मालिक व पत्नी को दे दिए थे। इसके अलावा वारदात को अंजाम देने से पहले उसने भांग भी खाई थी।

आत्महत्या के लिए ये तरीके अपनाए : सुमित ने कहा, ‘‘वारदात को अंजाम देने के बाद मैं जीना नहीं चाहता था। ऐसे में मैं रविवार को रेलवे स्टेशन पहुंचा और एक एजेंट की मदद से ट्रेन में बैठ गया। मैंने ट्रेन के बाथरूम में साइनाइड खाकर आत्महत्या करनी चाही, लेकिन वह नकली निकला।’’ सुमित ने दावा किया कि वह चलती ट्रेन से कूदना चाहता था, लेकिन उसकी हिम्मत जवाब दे गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App