ताज़ा खबर
 

कारसेवकों पर गोलियां: विश्व हिन्दू परिषद ने जनरल डायर से की मुलायम की तुलना, की जेल भेजने की मांग

मुलायम सिंह यादव ने बुधवार को अपने 79वें जन्मदिन पर लखनऊ में आयोजित समारोह में कहा था कि उन्होंने वर्ष 1990 में अपने मुख्यमंत्रित्व काल में देश की एकता के लिए कारसेवकों पर गोलियां चलवाई थीं।

Author लखनऊ | Published on: November 23, 2017 2:48 PM
Mulayam Singh Yadav, Vishwa Hindu Parishad, Suo Motu, VHP, babri masjid, babri masjid Controversy, karsevak, karsevak Firing, firing on karsevak, Mulayam Singh Yadav Jail, Vishwa Hindu Parishad Demands, Strate newsमुलायम सिंह यादव (photo source – Indian express_

विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार से पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह पर वर्ष 1990 में अयोध्या में निहत्थे कारसेवकों पर गोली चलवाकर उनकी जान लेने के आरोप में मुकदमा दर्ज करके उन्हें जेल में डालने की मांग की है। विहिप के प्रान्तीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि सपा संस्थापक और तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम बार-बार कह रहे हैं कि वर्ष 1990 में उन्होंने कारसेवकों पर गोली चलवाई। योगी सरकार इस बयान का संज्ञान लेते हुए उन पर हत्या का मुकदमा दर्ज करके उन्हें तत्काल गिरफ्तार कराए। उन्होंने कहा कि 30 अक्तूबर तथा दो नवम्बर 1990 को अयोध्या में मारे गए रामभक्तों के परिजन से मिलकर भी न्यायालय और राज्य सरकार से मुलायम के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराने की अपील की जाएगी।

शर्मा ने कहा कि कभी जनरल डायर ने ब्रितानी सत्ता की खातिर पंजाब के जलियांवाला में निहत्थे भारतीय बच्चों, महिलाओं और पुरूषों को गोलियों से भुनवा डाला था। वही जघन्य और कायरतापूर्ण अपराध मुलायम ने भी अपनी सत्ता को बचाने और चुनाव में सीटें बढ़वाने के लिए किया है। मुलायम आज वही सीख अपने पुत्र अखिलेश यादव को भी दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि विहिप 24 से 26 नवम्बर के बीच कर्नाटक के उडुप्पी मे आयोजित तीन दिवसीय धर्मसंसद मे श्रीराम जन्मभूमि के साथ मुलायम के इस जघन्य अपराध की स्वीविकारोक्ति को भी अवश्य उठाएंगी।

मालूम हो कि सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने बुधवार को अपने 79वें जन्मदिन पर लखनऊ में आयोजित समारोह में कहा था कि उन्होंने वर्ष 1990 में अपने मुख्यमंत्रित्व काल में देश की एकता के लिए कारसेवकों पर गोलियां चलवाई थीं। इसमें 28 लोग मारे गए। अगर और मारने होते तो हमारे सुरक्षाबल और मारते। पिछले विधानसभा चुनाव में सपा को महज 47 सीटें मिलने को शर्म की बात करार देते हुए उन्होंने कहा था कि अयोध्या में गोली चलवाने के बाद भी 1993 के विधानसभा चुनाव में सपा 105 सीटें जीत गई थी और फिर उसकी सरकार बन गई थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूपी: अल्‍पसंख्‍यक मामलों के मंत्री मोहसिन रजा का ही निकाह पंजीकरण हुआ रद्द, फिर से भरना होगा फॉर्म
2 दलिक लेखक कांचा इलैया पर चप्पलों से हमला, हमलावरों ने कहा- वंदे मातरम बोलो या देश से बाहर जाओ
3 कश्मीर में पहली बार पथराव करने वालों खिलाफ FIR वापस होगी: सीएम महबूबा मुफ्ती
ये पढ़ा क्या?
X