ताज़ा खबर
 

हार्दिक पटेल की गिरफ्तारी के बाद सूरत में तनाव

पटेल आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल और उनके समर्थकों को रविवार के दिन (19/08/2019) यहां निकोल इलाके में उपवास आयोजित करने का प्रयास करने पर गिरफ्तार कर लिया गया था, जिसके बाद से सूरत में तनाव का माहौल है।

सूरत में हिंसा फैलाने के बाद हिरासत में लिए हार्दिक और उनके समर्थक।

पटेल आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल और उनके समर्थकों को रविवार के दिन (19/08/2019) यहां निकोल इलाके में उपवास आयोजित करने का प्रयास करने पर गिरफ्तार कर लिया गया था, जिसके बाद से सूरत में तनाव का माहौल है। बीते दिन हार्दिक सहित उनके 9 समर्थकों को हिरासत में लिया गया था। उनके करीबी साथी पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता अल्पेश कठेरिया को गिरफ्तार करने के विरोध में भीड़ ने सूरत में लोगों ने हिंसा फैला रहे हैं। पाटीदार आंदोलन समिति (पास)ने इस इलाके के पार्किंग वाले स्थान पर उपवास कार्यक्रम की योजना बना रखी थी। इस सांकेतिक उपवास का लक्ष्य 25 अगस्त को हार्दिक के नियोजित कार्यक्रम के लिए मैदान आवंटन की मांग था। पटेल नौकरियों एवं शिक्षा में आरक्षण की मांग कर रहे हैं। हार्दिक ने 25 अगस्त से आरक्षण की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन उपवास पर बैठने की घोषणा की थी।

डीसीपी (अपराध शाखा) दीप भद्रन ने कहा, ‘‘हार्दिक और आठ अन्य लोग हार्दिक के घर के बाहर अवैध रुप से जमा होने और अन्य आरोपों को लेकर हिरासत में लिये गये हैं। ’’ डीसीपी (जोन श्) हिमकर सिंह ने बताया कि पुलिस ने निकोल और रामोल इलाकों से कम से कम 30 नेता और समर्थक गिरफ्तार किये गये हैं। वे प्रदर्शन में शामिल होने जा रहे थे जिसकी पुलिस अनुमति नहीं थी।

हार्दिक को हिरासत में लिये जाने के बाद कई पास सदस्यों ने उनकी रिहाई की मांग करते हुए अपराध शाखा के सामने प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन की अगुवाई करने वाले हार्दिक के सहयोगी निखिल सवानी ने भाजपा पर दमन का आरोप लगाया। हार्दिक ने 25 अगस्त के कार्यक्रम के वास्ते अनुमति के संबंध में हस्तक्षेप करने के लिए कल मुख्यमंत्री विजय रुपाणी से भेंट की थी। हार्दिक पटेल पाटीदार आरक्षण आंदोलन को लेकर चर्चा में आए थे।

भाषा के इनपुट के साथ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App