ताज़ा खबर
 

कानपुर शूटआउटः विकास दुबे ने घर के नीचे बना रखा था बंकर, दीवार में चुनवा कर रखता था असलहा-बारूद

पुलिस को दुबे के घर के नीचे एक बंकर मिला है। इस बंकर में दुबे हथियार छुपाकर रखता था। इसके अलावा उसने भारी मात्र में असलहा-बारूद दीवार में चुनवा रखे थे।

मुकान को पुलिस ने बुलडोजर चलाकर करीब दो घंटे में मलबे में तब्दील कर दिया। (pti)

कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव में मुठभेड़ में आठ पुलिसकर्मियों को मारने वाले हिस्ट्रीशीटर अपराधी विकास दुबे को पुलिस तलाश रही है। इसी बीच जिला प्रशासन ने दुबे के घर को ढहा दिया है। दो बीघे की चहारदीवारी में बने किलेनुमा मुकान को पुलिस ने बुलडोजर चलाकर करीब दो घंटे में मलबे में तब्दील कर दिया। इस दौरान पुलिस को दुबे के घर के नीचे एक बंकर मिला है। इस बंकर में दुबे हथियार छुपाकर रखता था। इसके अलावा उसने भारी मात्र में असलहा-बारूद दीवार में चुनवा रखे थे। पुलिस का कहना है कि विकास के आचरण का तरीका नक्सल है।

एसपी कानपुर ग्रामीण बीके श्रीवास्तव से मिली जानकारी के मुताबिक, विकास दुबे के घर से 2 किलो विस्फोटक बरामद हुआ है। साथ ही 15 देसी बम, 6 तमंचे और 25 कारतूस मिले हैं। विकास दुबे के घर से भारी मात्रा में बम बनाने का सामान और कील भी बरामद हुई हैं। श्रीवास्तव ने बताया “तलाशी के दौरान विकास दुबे के आवास से भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद किए गए हैं। बरामद हथियारों में से कुछ उसके साथ जुड़े लोगों के नामों के तहत लाइसेंस प्राप्त हैं, लेकिन उनका उपयोग विकास द्वारा किया गया था। विकास के आचरण का तरीका नक्सल है।”

कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया है कि विकास दुबे के घर में बंकर था, जिसमें वह हथियार छुपाकर रखता था। आईजी ने कहा कि जिस तरह कहा जाता है कि लोग सामान दीवारों में चुनवा कर रखते हैं, कुछ उसी प्रकार विकास दुबे ने दीवारों में असलहा-बारूद दबाकर रखा था। आईजी ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान बदमाशों ने 200-300 फायर किए गए थे जिसके खोखे भी बरामद किए गए हैं। पुलिस के पांच हथियार विकास दुबे और उसके गुर्गे लूट ले गए थे, जिसमें एक एके 47, एक इंसास राइफल और 3 पिस्टल शामिल हैं। इन 5 हथियारों में से एक पिस्टल पुलिस ने बरामद की है।

विकास के घर के चारों तरफ 12 फीट ऊंटी दीवार थी और इसमें करीब दो फीट में छल्लेदार कंटीले तार भी लगाए गए थे। घर में प्रवेश करने के लिए चार गेट थे और चारों गेटों के पास सीसीटीवी कैमरे लगे थे। मुख्य गेट से करीब 80 मीटर अंदर चार कमरों का आलीशान घर बना ता जिसमें विकास रहता था। इस घर में एक कमरा विकास और एक कमरा उसके पिता का था। इस घर में ऐशो-आराम का पूरा इंतजाम था। बाथटब से लेकर वॉश बेसिन तक हर जीच डिजाइनर थी। इसके अलावा माड्यूलर किचन भी मौजूद था।

पुलिस ने सारा दिन और रात मकान के हर एक हिस्से की गहनता से छानबीन की। इस दौरान पुलिस को उसके पुराने मकान में अंडरग्राउंड बंकर मिला। मकान के एक कमर की फर्श साधारण होने के चलते पुलिस को शक हुआ। फर्श के ऊपर एक तखत रखा हुआ था। पहली बार में पुलिस को कुछ नहीं मिला, जब पुलिस ने दोबारा कमरे को देखा और तखत हटाकर फर्श को ठोका तो आवाज ऐसी आई जैसे फर्श खोखला है। इसके बाद उसे खोदा गया तो नीचे बंकर मिला। पुलिस को आशंका हुई कि अपराध करने के बाद विकास इसी बंकर में छिपता था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 केरल में एक साल तक के लिए कोरोना सेफ्टी गाइडलाइंस अनिवार्य, कबीना मंत्री ने चेताया- ‘सक्रिय ज्वालामुखी’ पर बैठी है राजधानी
2 UP: मोदी नगर में मोमबत्ती फैक्ट्री में विस्फोट, 7 की मौत; कई जख्मी
3 एमपी: शिवराज को 72 दिन लगे मंत्रिमंडल विस्तार करने में, अब विभाग बांटने में छूट रहे पसीने, सिंधिया गुट ने बढ़ाया दबाव; 72 घंटे से बिन विभाग के मंत्री
ये पढ़ा क्या?
X