ताज़ा खबर
 

निगम को 25 करोड़ के नुकसान के आरोप पर गोयल ने किया पलटवार

मंगलवार को आप ने उत्तरी दिल्ली नगर निगम की ओर से करों में छूट दिए जाने और उससे निगम को 25 करोड़ के नुकसान आरोप लगाया था।

Author नई दिल्ली | September 9, 2016 1:31 AM
केंद्रीय राज्य मंत्री विजय गोयल ।

मंगलवार को आप ने उत्तरी दिल्ली नगर निगम की ओर से करों में छूट दिए जाने और उससे निगम को 25 करोड़ के नुकसान आरोप लगाया था। जिसके जवाब में केंद्रीय राज्य मंत्री विजय गोयल ने कहा है कि आप ये बेबुनियाद आरोप कुंठा से ग्रसित हो कर लगा रही है। उन्होंने कहा कि निगम ने विरासत भवनों के संरक्षण के उद्देश्य से जो रूपांतरण शुल्क माफ करने की घोषणा की है उसका स्वागत होना चाहिए।

केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता ने कहा, ‘चांदनी चौक में जिस तरह से हमारी विरासत समाप्त होती जा रही है, उसके लिए इससे भी ज्यादा कदम उठाने और कई तरह की छूट देने की जरूरत है।’ विजय गोयल ने कहा, ‘उत्तरी दिल्ली निगम के मात्र 300 हैरिटेज बिल्डिंग हैं, जिनको उन्होंने संरक्षित चिह्ति किया है। इनमें से भी 250 इमारतें, मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा एवं अन्य धार्मिक भवन और सरकारी भवन शामिल हैं। इन पर रूपांतरण शुल्क लागू नहीं होता।

जो 50 भवन निजी निवास या हवेलियां हैं उनमें भी आधे से ज्यादा जर्जर, खंडहर या लगभग समाप्त हो चुके हैं। ऐसे में सरकार की ओर से 25 करोड़ के नुकसान की बात क्यों की जा रही है और ये जो 25 हवेलियां बाकी बचीं हैं, उन पर भी रूपांतरण शुल्क तब माफ होगा, जब उनका जीर्णोद्धार और संरक्षण होगा।’

गोयल ने कहा, ‘आम आदमी पार्टी के नेता भूल गए कि ये काम दिल्ली सरकार के शाहजहानाबाद रिडवलपमेंट बोर्ड का था, जिसके चेयरमैन मनीष सिसोदिया हैं और इस बोर्ड ने स्वयं 23 सितंबर, 2015 को यह सिफारिश की है कि निजी हिरासत भवनों के रख-रखाव के लिए संपत्ति कर, रूपांतरण शुल्क, वैट, सेवा कर, स्टांप ड्यूटी सबको माफ किया जाना चाहिए। पर दिल्ली सरकार इस पर कुंडली मार कर बैठी हुई है।’ उन्होंने कहा कि हवेली धर्मपुरा लगभग डेढ़ सौ साल पुरानी है, जिसमें 6 साल की मेहनत से उसके जीर्णोद्धार का काम किया गया है। जिसकी हर तरफ प्रशंसा हुई, इसलिए वो हर छूट की हकदार है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App