ताज़ा खबर
 

MP: सांप के काटने पर झाड़-फूंक से हो रहा सरकारी अस्पताल में इलाज, वीडियो सामने आया तो डॉक्टरों ने यूं दी सफाई

सांप के डसने पर लोग डॉक्टरों से इलाज कराने की बजाए झाड़-फूंक करने वालों पर ज्यादा भरोसा करते हैं। हालांकि इनके झाड़-फूंक से कई बार पीड़ित की जान भी चली जाती है।

एमपी के श्योपुर सरकारी अस्पताल में पीड़ित का इलाज करता ओझा (फोटो सोर्स – ANI)

मध्यप्रदेश के श्योपुर जिले में एक व्यक्ति को सांप ने डस लिया। परिजन उसे सरकारी अस्पताल ले गए। वहां डॉक्टर की बजाए एक झाड़- फूंक करने वाला ओझा उसका इलाज कर रहा था। इसका वीडियो वॉयरल हुआ तो लोगों को पता चला। मीडिया ने इस बारे में रेजीडेंट मेडिकल ऑफिसर से बात की तो उन्होंने इसे गलत प्रैक्टिस बताया और कहा कि इसकी जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे।

गांव वालों का डॉक्टरों पर नहीं भरोसा : आम तौर पर सांप के डसने पर लोग डॉक्टरों से इलाज कराने की बजाए झाड़-फूंक करने वालों पर ज्यादा भरोसा करते हैं। हालांकि इनके झाड़-फूंक से कई बार पीड़ित की जान भी चली जाती है, लेकिन इसके बावजूद आम लोगों का मानना है कि सांप के काटने पर डॉक्टरों की बजाए इनके पास जाने में पीड़ित के बचने की संभावना ज्यादा है। यही वजह है कि ऐसे लोग अब भी गांवों और दूरदराज के इलाकों में बड़ी संख्या में झाड़-फूंक कर रहे हैं। गांवों में इनकी मांग काफी ज्यादा है। इनके घरों में कई पीढ़ियों से यह काम होता आया है। पहले इस तरह के लोग गांवों के कुछ खास इलाकों में रहा करते थे। अब यह बिखर गए हैं।

Hindi News Today, 01 November 2019 LIVE Updates: दिन भर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पलामू में दो लोगों की हुई थी मौत : पिछले दिनों झारखंड के पलामू जिले में एक ही परिवार के तीन लोगों को सांप ने काट लिया। घर वाले पीड़ितों को डॉक्टर के पास न ले जाकर झाड़-फूंक करने वालों के पास ले गए। इस दौरान मां-बेटे की मौत हो गई, जबकि तीसरा शख्स बच गया। घर वालों का कहना था कि झाड़-फूंक करने से ही वह बचा है। इसी तरह 2018 में चैनपुर के इलाके में दो बच्चों को सांप ने काटा था, परिजनों ने झाड़-फूंक का सहारा लिया और शव को कब्र से निकाल कर झाड़-फूंक कराया था। उनको भरोसा था कि मरने के बाद भी झाड़-फूंक से वह बच जाएगा।

डॉक्टर कहते हैं अंधविश्वास : डॉक्टर इसे गलत तरीका बताते हैं। डॉक्टरों का कहना है कि यह अंधविश्वास है। सांप के काटने पर जहर शरीर में बहुत तेजी से फैलता है। ऐसे में पीड़ित को झाड़-फूंक करने वालों के पास ले जाने की बजाए फौरन अस्पताल ले जाना चाहिए। वहां समय पर इलाज होने से उसकी जान बचाई जा सकती है। देर करने पर जहर पूरे शरीर में फैल जाता है। इससे उसके बचने की संभावना कम हो सकती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 लुटेरों को पकड़ने गई यूपी पुलिस को लोगों ने बंधक बनाया, फिर जमकर पीटा और जला डाले वाहन
ये पढ़ा क्या?
X