ताज़ा खबर
 

VIDEO: राहुल गांधी पर बरसे योगी आदित्यनाथ- विदेश में खुद को बताते हैं ईसाई, भारत में बनते हैं जनेऊधारी हिंदू

योगी ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा से समाज को बांटने की कोशिश की है। उन्होंने आजादी के बाद समाज को बांटा और अब हिंदुओं को भी बांटने की कोशिश में लगे हैं।

Author नई दिल्ली | December 2, 2017 5:52 PM
उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (फोटो सोर्स- PTI)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक इंटरव्यू में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा है। योगी ने कहा कि राहुल बाहर जाकर कैथलिक क्रिश्चियन बन जाते हैं और भारत में कहते हैं कि मैं जनेऊधारी हिंदू हूं। योगी ने इसे बकवास बताया। इंडिया टीवी को दिए इंटरव्यू में योगी ने यह टिप्पणी उस मामले पर की, जिसमें कांग्रेस ने राहुल को जनेऊधारी बताया था। योगी ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा से समाज को बांटने की कोशिश की है। उन्होंने आजादी के बाद समाज को बांटा और अब हिंदुओं को भी बांटने की कोशिश में लगे हैं। सीएम ने कहा कि हिंदुओं में कोई नहीं पूछता कि आप जनेऊ पहनते हैं या नहीं, यह निजी मामला है। लेकिन जो शख्स बाहर जाकर खुद को कैथलिक क्रिश्चियन कहता हो और यहां आकर कहे कि मैं जनेऊधारी हूं तो यह बकवास है। योगी ने कहा, यह वो शख्स कहता है, जिसकी पार्टी ने कभी राम और कृष्ण के अस्तित्व को माना ही नहीं। गुजरात की जनता ने राहुल गांधी को मंदिर जाने और यह कहने पर मजबूर कर दिया कि वह जनेऊधारी हिंदू हैं।

जीएसटी को गुजरात चुनावों में मुद्दा बनाने के सवाल पर सीएम आदित्यनाथ ने कहा कि राहुल गांधी की उम्र तो 46-47 हो गई है, लेकिन उनकी खुद की कोई समझ नहीं है। उन्हें जो पढ़ने को दिया जाता है, वह उसे रटते हैं, तब बोलते हैं। उन्हें खुद को पता नहीं होता कि वह जो बोल रहे हैं, उसका मतलब क्या है। यूपी निकाय चुनावों में मिली शनदार जीत का क्रेडिट न लेते हुए योगी आदित्यनाथ ने इसका श्रेय पीएम नरेंद्र मोदी, बीजेपी चीफ अमित शाह और कार्यकर्ताओं को दिया।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश निकाय चुनावों में बीजेपी ने शानदार जीत हासिल की है। महापौर की 16 सीटों में से बीजेपी के खाते में 14 तो बहुजन समाज पार्टी को 2 सीटें मिली हैं। कांग्रेस और सपा का खाता तक नहीं खुल पाया। गुजरात विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस और खुद राहुल गांधी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। हालांकि कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा कि निकाय चुनाव स्थानीय मुद्दों पर लड़े जाते हैं, लेकिन दबदबा उस दल का ज्यादा होता है, जिसकी संबंधित राज्य में सरकार होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App