scorecardresearch

अस्पताल में नमाज अदा करती महिला का वीडियो: प्रयागराज पुलिस का कहना है कि कोई अपराध नहीं, संस्थान ने जांच पैनल बनाया

UP News: पुलिस ने एक ट्वीट में कहा, “वायरल वीडियो की जांच में ये पाया गया कि महिला ने बिना किसी गलत इरादे के या बिना किसी काम में बाधा डाले अस्पताल में नमाज पढ़ा। मरीज के शीघ्र स्वस्थ होने के लिए प्रार्थना की थी।”

अस्पताल में नमाज अदा करती महिला का वीडियो: प्रयागराज पुलिस का कहना है कि कोई अपराध नहीं, संस्थान ने जांच पैनल बनाया
UP News: महिला के अस्पताल में नमाज पढ़ने का मामला (Photo- Screengrab/Twitter)

Women worship in Hospital: उत्तर प्रदेश के जिला प्रयागराज का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में एक महिला अस्पताल में नमाज पढ़ती हुई दिखाई दे रही है। जिसका कई लोगों ने विरोध भी किया था। वहीं, अब इस मामले पर प्रयागराज पुलिस ने ट्वीट कर कहा है कि महिला ने कोई अपराध नहीं किया गया है। हालांकि, परिसर में नमाज पढ़ने का मामला सामने आने के बाद अस्पताल ने जांच समिति गठित की है। अस्पताल के अधीक्षक डॉक्टर एमके अखौरी ने कहा कि सबिहा नाम की महिला गुरुवार (22 सितंबर) को डेंगू वार्ड में भर्ती एक मरीज से मिलने आई थी और दोपहर में वह वहीं नमाज पढ़ने लगी।

डॉक्टर एमके अखौरी ने कहा कि किसी ने नमाज पढ़ते वक्त उसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। उन्होंने कहा,”अस्पताल प्रशासन वहां पहुंच गया और महिला को ऐसा न करने की चेतावनी दी। अखौरी ने कहा कि अस्पताल प्रशासन ने घटना की जांच के लिए एक समिति गठित की है। इस बीच प्रयागराज पुलिस ने घटना के बारे में एक ट्वीट में कहा कि महिला का अस्पताल परिसर में नमाज अता करना अपराध की श्रेणी में नहीं आता है। पुलिस ने एक ट्वीट में कहा, “वायरल वीडियो की जांच में ये पाया गया कि महिला ने बिना किसी गलत इरादे के या बिना किसी काम में बाधा डाले अस्पताल में नमाज पढ़ा। मरीज के शीघ्र स्वस्थ होने के लिए प्रार्थना की थी।”

ओवैसी का ट्वीट- क्या यूपी पुलिस के पास और कोई काम नहीं है?

वहीं, AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया और लिखा- “अगर कोई व्यक्ति जो अस्पताल में भर्ती अपने रिश्तेदार की देखभाल कर रहा है। बिना किसी को परेशान किए अपने धर्म के अनुसार प्रार्थना कर रहा है तो इसमें क्या अपराध है? क्या यूपी पुलिस के पास और कोई काम नहीं है? जहां भी नमाज अदा की जाती है, वहां नमाजियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाती है।”

जानिए क्या है पूरा मामला?

दरअसल, ये मामला प्रयागराज जिले के तेज बहादुर सप्रू अस्पताल (बेली अस्पताल) का है। यहां डेंगू वार्ड के बाहर एक मुस्लिम महिला ने नमाज पढ़ी। वीडियो में नजर आ रहा है कि महिला फर्श पर चादर बिछाकर नमाज पढ़ रही है। वहां मौजूद अन्य मरीजों के तीमारदार भी थे, जो महिला को नमाज पढ़ते देख रहे थे। नमाज पढ़ने के बाद महिला उठी और कुछ दूर जाकर बैठ गई। बताया जा रहा है कि वीडियो में नजर आ रही महिला भी किसी मरीज की तीमारदार थी। अस्पताल के डेंगू वार्ड में जेठवारा प्रतापगढ़ की 40 साल की एक महिला भर्ती है। ये महिला अस्पताल में 15 मिनट तक नमाज पढ़ती रहीं। वहां मौजूद कुछ तीमारदारों ने इसका विरोध भी किया था। इस दौरान यहां मौजूद किसी शख्स ने नमाज पढ़ती महिला का वीडियो बना लिया और उसे वायरल कर दिया।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट