ताज़ा खबर
 

ज‍िहाद के ल‍िए जॉइन की थी नौकरी, कश्‍मीर‍ियों को नहीं म‍िल रहा उनका हक- खुद को जम्‍मू-कश्‍मीर पुल‍िस का स‍िपाही बताने वाले शख्‍स ने कहा

इस शख्स का कहना है कि कश्मीर में जो हालात बने हुए हैं, वह इसलिए हैं कि वहां अभी तक जनमत संग्रह नहीं करवाया गया है।

यह वीडियो यूट्यूब पर अपलोड किया गया है।

खुद को जम्मू-कश्मीर पुलिस का सिपाही बताने वाले एक शख्स का कहना है कि कश्मीरियों को उनका हक नहीं मिल रहा है। कश्मीर में जनमत संग्रह होना चाहिए, लेकिन अभी तक ऐसा हुआ नहीं है। साथ ही उसका कहना है कि कश्मीर घाटी में जो खून-खराबा हो रहा है, उसकी वजह है कि वहां पर आज तक जनमत संग्रह नहीं हुआ है। रईस नाम के इस शख्स का कहना है कि उन्होंने पुलिस कांस्टेबल पद से इस्तीफा दे दिया है और अब वे कश्मीर घाटी में शांति के लिए लड़ाई लड़ेंगे।

यूट्यूब पर अपलोड किए गए वीडियो में रईस ने यह बात कही है। वीडियो में उन्होंने कहा, ‘जब मैंने पुलिस विभाग ज्वाइन किया तो मैंने लोगों की सेवा करने और अपने परिवार की जिम्मेदारी उठाने की कसम खाई थी। मैंने सोचा था कि मैं जिहाद करूंगा, जिसका मतलब है कि अपने अंदर मौजूद बुरी चीजों को खत्म करना और इंसानियत के लिए लड़ना। लेकिन कश्मीर घाटी में हालात बहुत ही खराब हो चुके हैं। यहां एक तूफान बरपा हुआ है। हर रोज यहां कश्मीरी मर रहे हैं। आधों की आंखों की रोशनी चली गई, आधे जेल में सड़ रहे हैं और वहीं कुछ लोग नजरबंद हैं। यह सारा मसला इसलिए है कि कश्मीरी अपना हक मांग रहे हैं। कश्मीरी जनमत संग्रह की मांग रहे हैं, जिसे अभी तक नहीं कराया गया है।’

साथ ही उसका कहना है कि कश्मीर में जनमत संग्रह उनका अधिकार है, जिसकी वे मांग कर रहे हैं। उसने कहा, ‘यहां खूनखराबा इसलिए हो रहा है, क्योंकि जनमत संग्रह कभी हुआ ही नहीं। यहां पर भारतीय और पाकिस्तानी दोनों मर रहे हैं, लेकिन कश्मीरियों को ज्यादा झेलना पड़ रहा है। ना तो मैं पाकिस्तान को पसंद करता हूं, ना ही मैं भारत से नफरत करता हूं, मैं केवल मेरे कश्मीर से प्यार करता हूँ। मुझे यहां शांति चाहिए।’

रईस ने वीडियो में कहा, ‘मैंने पुलिस विभाग से इसलिए इस्तीफा दे दिया है, क्योंकि अब मेरा अंतर्मन यह सवाल नहीं पूछेगा कि एक पुलिसकर्मी के तौर पर जो खूनखराब देखता था, वह सही है या गलत।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App