scorecardresearch

NH 344 पर बने ब्रिज के 4 हजार नट बोल्ट खोल ले गए शातिर चोर, जानिए कैसे दिया वारदात को अंजाम

Avardhan Canal Bridge: आवर्धन नहर के ऊपर बने पुल के सपोर्ट के लिए अप-डाउन दोनों तरफ तीन-तीन बड़े गार्डर रखे हैं। इनको जोड़ने के लिए लगे लोहे के एंगल से ही ये नट बोल्ट खोले गये हैं।

NH 344 पर बने ब्रिज के 4 हजार नट बोल्ट खोल ले गए शातिर चोर, जानिए कैसे दिया वारदात को अंजाम
हरियाणा के यमुनानगर में हाईवे पर बने इसी पुल के नीचे से चोरों ने नट-बोल्ट गायब कर दिये। (फोटो एएनआई)

4000 Nut-Bolt Theft On NH-34 Bridge: हरियाणा के यमुनानगर जिले में सहारनपुर-पंचकूला NH-344 पर बने पुल से शातिर चोरों ने करीब चार हजार नट बोल्ट और एक एंगल खोलकर उठा ले गये। इतनी बड़ी घटना को अंजाम देने की जानकारी जब राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को हुई तो हड़कंप मच गया। ले गये। नट बोल्ट निकाल लेने से उस पुल से गुजरने वाले लोगों की जिंदगी खतरे में पड़ गई है।

यूपी और हरियाणा को जोड़ने वाला यह एनएच-344 यूपी के सहारनपुर से होते हुए हरियाणा के पंचकूला तक जाता है। तीन साल पहले ही इस राजमार्ग पर वाहनों का आवागमन शुरू हुआ है। इस राजमार्ग के बीच में पड़ने वाली आवर्धन नहर के ऊपर पांजूपुर गांव में यह पुल बना हुआ है। पुल के सपोर्ट के लिए अप-डाउन दोनों तरफ तीन-तीन बड़े गार्डर रखे हुए हैं। इनको जोड़ने के लिए लगे लोहे के एंगल से ही ये नट बोल्ट खोले गये हैं। सोमवार की शाम नहर की पटरी से गुजर रहे कुछ लोगों को एंगल से नट बोल्ट गायब दिखे तो उन्होंने इसकी सूचना जिला प्रशासन को दी।

पुल बनाने वाली कंपनी ने दर्ज कराई रिपोर्ट

जिला प्रशासन के साथ ही पुलिस और राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अफसरों ने पूरे पुल का मौका मुआयना किया। इसके बाद इस राजमार्ग को बनाने वाली कंपनी सद्भाव कंस्ट्रक्शन ने थाना सदर यमुनानगर में मामले की रिपोर्ट दर्ज कराई। एनएचआई के सूत्रों ने बताया कि सोमवार की शाम नहर की पटरी से गुजर रहे लोगों को नट बोल्ट की जगह वाहनों की रोशनी दिखी तो उनको शक हुआ। इसके बाद वे पुल के दोनों तरफ पास से देखे तो उन्हें नट-बोल्ट गायब दिखे।

वेल्डिंग होने से बाकी एंगल चोरी होने से बच गये

एनएचएआई के अफसरों ने मीडिया को बताया कि पुल पर कई एंगल लगे हुए हैं, लेकिन बाकी एंगल में वेल्डिंग हुई है, इससे चोर उसको नहीं तोड़ सके, अन्यथा उसे भी गायब कर देते। घटना की रिपोर्ट दर्ज कराये जाने के बाद अफसर वहां नये नट-बोल्ट लगाने की तैयारी शुरू कर दी है। चोरों की इस दुस्साहस से स्थानीय लोगों में काफी आक्रोश है।

लोगों का कहना है कि अगर इसकी जानकारी न हुई होती तो पुल पर कभी भी हादसा हो सकता था। फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है और जल्द ही चोरों को पकड़ने का आश्वासन दी है। पुलिस ने स्थानीय चोरों पर ही इस घटना को अंजाम देने की आशंका जतायी है।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट