ताज़ा खबर
 

प्रवीण तोगड़िया ने पद्मावत को रोकने के लिए अध्यादेश की मांग की

राजस्थान में अब राजपूत संगठनों के साथ ही हिंदूवादी संगठन भी जोर-शोर से फिल्म पद्मावत के विरोध में उतर आये है।

Author नई दिल्ली | January 23, 2018 2:37 AM
VHP लीडर प्रवीण तोगड़िया

राजस्थान में अब राजपूत संगठनों के साथ ही हिंदूवादी संगठन भी जोर-शोर से फिल्म पद्मावत के विरोध में उतर आये है। विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने तो फिल्म रोकने के लिए अध्यादेश लाए जाने की मांग सरकार से की है। फिल्म पर प्रतिबंध की मांग को लेकर भीलवाड़ा में एक युवक पेट्रोल की बोतल लेकर टावर पर चढ़ गया। इससे पुलिस और प्रशासन सतर्क हो गया है। राज्य में राजपूत करणी सेना के साथ ही अब कई संगठन संजय लीला भंसाली की विवादित फिल्म पद्मावत के खिलाफ मैदान में उतर आए हैं।

विहिप के अध्यक्ष तोगडिया ने यहां एलान किया है कि किसी भी कीमत पर पद्मावत फिल्म देश में रिलीज नहीं होने देंगे। विहिप और बजरंग दल के कार्यकर्ता 25 जनवरी को फिल्म के विरोध में देश भर में सड़कों पर उतर कर लोकतांत्रिक तरीके से विरोध करेंगे। उन्होंने प्रधानमंत्री से मांग की कि केंद्र सरकार पद्मावत फिल्म के रिलीज संबंधी सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ अध्यादेश निकाल कर हिंदुओं के स्वाभिमान की रक्षा करें। ऐसा नहीं हुआ तो देश भर के सिनेमाघरों के बाहर जनता कर्फ्यू लगाकर विरोध किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि यह सभी जाति के हिंदुओं के स्वाभिमान का प्रश्न है। जौहर में सभी हिंदू जाति की महिलाओं ने बलिदान दिया था। फिल्म के विरोध में रविवार को राजपूत महिलाओं ने चित्तौडगढ़ में तलवारें लहराते हुए प्रदर्शन भी किया था। इन महिलाओं ने फिल्म के प्रदर्शन के विरोध में जौहर तक की चेतावनी दे रखी है। फिल्म का तीखा विरोध सोमवार को जयपुर में करणी सेना ने प्रदर्शन कर किया। करणी सेना ने साफ किया कि किसी भी हालत में फिल्म को प्रदर्शित नहीं होने दिया जाएगा।

पद्मावत फिल्म का विरोध अब उग्र और हिंसक भी होता जा रहा है। भीलवाड़ा शहर में सोमवार को सवेरे एक युवक उपेंद्र सिंह पेट्रोल से भरी बोतल लेकर बीएसएनएल के साढ़े तीन सौ फीट ऊंचे टावर पर चढ़ गया। उसने प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक फिल्म पर प्रतिबंध नहीं लगाया जाएगा वह टावर से नहीं उतरेगा। सिंह करणी सेना का पदाधिकारी बताया जा रहा है। युवक के टावर पर चढ़ने की सूचना के बाद राजपूत करणी सेना के बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौके पर पहुंच गए।

भीड़ के नारेबाजी करने से माहौल तनावपूर्ण हो गया। प्रशासन और पुलिस के आला अफसर मौके पर पहुंच गए और उन्होंने युवक से टावर से उतरने की अपील करते हुए समझाने की कोशिश की। पद्मावत फिल्म के उग्र होते विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए सरकार खासी सतर्कता बरत रही है। प्रशासन और पुलिस के आला अफसर यहां लगातार बैठकें कर कानून व्यवस्था की समीक्षा भी कर रहे है। जयपुर में 25 जनवरी से शुरू होने वाले जयपुर साहित्य उत्सव के आयोजन की सुरक्षा को लेकर सरकार सतर्क हो गई है। इस उत्सव में सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी और फिल्म निर्देशक जावेद अख्तर के आने का भी कार्यक्रम है। करणी सेना ने इनके विरोध की चेतावनी दी है। इससे उत्सव के आयोजकों के साथ ही सरकार की चिंता भी बढ़ गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App