ताज़ा खबर
 

दिल्ली: वायु प्रदूषण से हालात बदतर, चार गुना बढ़ाई गई वाहन पार्किंग की फीस

यह निर्णय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा नियुक्त पर्यावरण प्रदूषण निवारण और नियंत्रण प्राधिकरण (ईपीसीए) की एक बैठक में लिया गया, ताकि लोग निजी वाहनों का कम इस्तेमाल करें।

Air Pollution, Air Pollution in Delhi, Vehicle Parking Fee, Vehicle Parking Fee in Delhi, Vehicle Parking Fee Increase, Parking Fee Increase in Delhi, Reduces Air Pollution, Reduces Air Pollution in Delhi, State newsप्रतीकात्मक चित्र

राष्ट्रीय राजधानी में बदतर होती वायु की गुणवत्ता पर लगाम लगाने के लिए प्रशासन ने मंगलवार को दिल्ली में वाहन पार्किंग शुल्क चार गुना बढ़ा दिया। यह निर्णय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा नियुक्त पर्यावरण प्रदूषण निवारण और नियंत्रण प्राधिकरण (ईपीसीए) की एक बैठक में लिया गया, ताकि लोग निजी वाहनों का कम इस्तेमाल करें, क्योंकि वायु प्रदूषण की स्थिति अधिक बदतर हो गई है और मंगलवार को यह खतरनाक स्तर पर पहुंच गया। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वर्ष की सबसे खराब हवा की गुणवत्ता और धुंध की स्थिति देखी गई, जो दिवाली के बाद से अधिक खराब है।

दिल्ली के आसमान में धुंध की पीली चादर छाई हुई है। उल्लेखनीय है कि 21 सक्रिय प्रदूषण निगरानी केंद्रों में से 18 में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ दर्ज किए जाने के साथ ही प्रदूषण खतरनाक स्तर तक पहुंच गया है। बीती शाम से वायु की गुणवत्ता और दृश्यता में तेजी से गिरावट आ रही है तथा नमी और प्रदूषकों के मेल के कारण शहर में घनी धुंध छा गई है। यह अत्यंत गंभीर से बेहतर स्थिति है लेकिन वैश्विक मानकों के मुताबिक यह भी खतरनाक है। अगर स्थिति और खराब होती है और कम से कम 48 घंटों तक बनी रहती है तो जीआरएपी के तहत आने वाला कार्यबल स्कूलों को बंद कर सकता है और सम-विषम (आॅड-ईवन) योजना को फिर शुरू कर सकता है।

इस सिलसिले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरंविद केजरीवाल ने शहर में बढ़ते प्रदूषण के मद्देनजर मंगलवार को उप मुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया से स्कूलों को कुछ दिन तक बंद रखने पर विचार करने को कहा। इसके बाद सिसोदिया ने शिक्षा, स्वास्थ्य और पर्यावरण विभागों के अधिकारियों की बैठक बुलाई है। सिसोदिया ने पर्यावरण विभाग को मंगलवार शाम तक शहर के प्रदूषण स्तर पर एक रिपोर्ट देने का निर्देश भी दिया है। उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद स्कूलों को बंद करने और हफ्ते के अलग अलग दिनों में सम-विषम नंबर के हिसाब से गाड़ियां चलाने की योजना के विषयों पर अंतिम निर्णय लेगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 शेयर बाजार में रही गिरावट, सेंसेक्स 360 तो निफ्टी 101 प्वाइंट लुढ़का
2 भारत ने किया ‘निर्भय’ मिसाइल का परीक्षण, जानें क्या है इसकी खासियत
3 VIDEO: किसी पहलवान से कम नहीं है विराट कोहली की डाइट, जानकर छूट सकते हैं पसीने
ये पढ़ा क्या?
X