ताज़ा खबर
 

Cyclone Vayu Today in Gujarat: ‘वायु’ के अलर्ट के बीच सोमनाथ मंदिर खुले रहने पर बोले मंत्री- ये कुदरती आफत, हम क्या रोकेंगे

Cyclone Vayu Today in Gujarat: प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर क्षेत्र में हवा की रफ्तार काफी तेज हो गई है और तेज हवाओं के चलते मंदिर के प्रवेश द्वार की छत उड़ गई है। इस घटना में किसी के घायल होने की खबर नहीं है।

Author नई दिल्ली | June 13, 2019 11:20 AM
गुजरात के मंत्री भूपेन्द्रसिन्ह चौदसमा। (image source-ani)

Cyclone Vayu Today in Gujarat: चक्रवाती तूफान वायु आज गुजरात के तटीय इलाकों से टकराएगा। इसे लेकर प्रशासन ने राहत और बचाव कार्यों को लिए काफी तैयारी की है। मौसम विभाग के अनुसार, चक्रवाती तूफान वायु के चलते 150 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। तटीय इलाकों में रहने वाले लोगों को सरकार द्वारा सुरक्षित स्थान पर भेजा गया है और हालात पर पूरी नजर रखी जा रही है। वहीं दूसरी तरफ गुजरात के प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर को अभी भी बंद नहीं किया गया है और वहां आरती की जाएगी। जब इस बारे में गुजरात सरकार के मंत्री भूपेन्द्रसिन्ह चौदसमा से जब सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि ‘मंदिर बंद नहीं किया जा सकता। हमने पर्यटकों से अपील की है कि वह मंदिर ना आएं, लेकिन आरती की जाएगी, क्योंकि कई सालों से इसे बंद नहीं किया गया है।’

भूपेन्द्रसिन्ह चौदसमा ने आगे कहा कि “ये कुदरती आफत है, कुदरत ही रोक सकती है, कुदरत को हम क्या रोकेंगे!” बता दें कि प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर क्षेत्र में हवा की रफ्तार काफी तेज हो गई है और तेज हवाओं के चलते मंदिर के प्रवेश द्वार की छत उड़ गई है। इस घटना में किसी के घायल होने की खबर नहीं है। वहीं गुजरात में चक्रवाती तूफान को लेकर छाया संकट कुछ कम हो गया है। दरअसल मौसम विभाग का कहना है कि वायु तूफान ने अपना रास्ता बदल लिया है और माना जा रहा है कि अब वह गुजरात के तटीय इलाकों को छूकर निकल जाएगा। हालांकि खतरा अभी पूरी तरह से नहीं टला है। चक्रवाती तूफान वेरावल, पोरबंदर, द्वारका के पास से होकर गुजरेगा, जिससे इन इलाकों में भारी बारिश और तेज आंधी आने की आशंका है।

गुजरात सरकार ने हालात से निपटने के लिए एनडीआरएफ की 52 टीमों को तैनात किया है, साथ ही सेना के तीनों अंगों और कोस्ट गार्ड को भी अलर्ट पर रखा गया है। चक्रवाती तूफान के चलते गुजरात में यातायात व्यवस्था भी बुरी तरह से प्रभावित हुई है। संभावित आपदा को देखते हुए रेलवे ने 70 ट्रेनें रद्द कर दी हैं और 28 ट्रेनों को गंतव्य से पहले ही रोक दिया गया है। गुजरात के सीएम विजय रुपाणी ने कहा कि प्रभावित इलाकों से 2 लाख 75 हजार से ज्यादा लोगों को हटाया जा चुका है। समुद्री तट पर होने वाली सभी गतिविधियों पर विराम लगा दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X