ताज़ा खबर
 

फिर प्रद्युम्न जैसा कोई मासूम न हो हत्या का शिकार: वरुण ठाकुर

हरियाणा के गुरुग्राम स्थित रेयान स्कूल में सात वर्षीय छात्र प्रद्युम्न की हत्या के बाद हर माता-पिता अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंतित है।
Author गुड़गांव | October 13, 2017 04:31 am

हरियाणा के गुरुग्राम स्थित रेयान स्कूल में सात वर्षीय छात्र प्रद्युम्न की हत्या के बाद हर माता-पिता अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंतित है। इसलिए प्रद्युम्न को सच्ची श्रद्धांजलि तभी मिलेगी जब स्कूलों में बच्चे सुरक्षित होंगे और माता-पिता व अभिभावकों की चिंता दूर होगी। यह संवेदना प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर ने बुधवार को देश की राजधानी दिल्ली स्थित ब्रिटिश लिंग्वा संस्थान में आयोजित एक जन जागरूकता कार्यक्रम में व्यक्त की। कार्यक्रम में प्रद्युम्न हत्या मामले की पैरवी कर रहे सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता सुशील टेकरीवाल ने भी शिरकत की। उन्होंने हत्या के इस मामले को रोंगटे खड़े करने वाली घटना करार दिया और बताया कि मामले की गंभीरता को देखकर सुप्रीम कोर्ट ने इसपर स्वत: संज्ञान लिया था।

ब्रिटिश लिंग्वा के संस्थापक व प्रबंध निदेशक डा. बीरवल झा ने स्कूली बच्चों की सुरक्षा व संरक्षा को अहम मसला बताया और कहा कि देशभर के स्कूलों में इस पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। वरुण ठाकुर ने कहा कि ‘फिर प्रद्युम्न जैसा कोई मासूम हत्या का शिकार न हो’ इसी संकल्प के साथ वो अपने बेटे को न्याय दिलाने और स्कूली बच्चों की सुरक्षा की लड़ाई लड़ने को आगे आए हैं। वरुण ने प्रद्युम्न ठाकुर के नाम पर नवस्थापित ‘प्रद्युम्न फाउंडेशन’ के माध्यम से स्कूलों में सुरक्षा मानकों को सख्ती से लागू करने की मुहिम चलाई है। उनकी इस मुहिम में सुशील टेकरीवाल और डा. बीरबल झा उनका सहयोग कर रहे हैं।

इस मौके पर अधिवक्ता टेकरीवाल ने प्रद्युम्न हत्याकांड के बाद मामले की जांच से लेकर अब तक चली कानूनी कार्यवाही की जानकारी देते हुए लोगों को बच्चों की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट की चिंताओं से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार की ओर दाखिल एक हलफनामे के जरिये सुप्रीम कोर्ट को आश्वस्त करवाया गया है कि स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर तमाम जरूरी कदम उठाए जाएंगे।

हलफनामे में केंद्र की ओर से कहा गया है कि प्रद्युम्न हत्याकांड के तुरंत बाद सभी राज्यों व संघशासित प्रदेशों को इस संबंध में जारी दिशा-निदेशरें का सख्ती से अनुपालन करने को कहा गया है। कार्यक्रम में कई मीडियाकर्मी समेत समाज के प्रबुद्ध लोगों ने हिस्सा लिया। गौरतलब है कि गुरुग्राम स्थित रेयान स्कूल में पिछले महीने 8 सितंबर को कक्षा-2 के छात्र सात वर्षीय प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या कर दी गई थी। प्रद्युम्न की याद में करवाये गए इस कार्यक्रम में दो मिनट का मौन रख उसे श्रद्धांजलि दी गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.