ताज़ा खबर
 

जेल के कैदियों के दर्द और उम्मीदों को बयां करता ‘तिनका तिनका डासना’ कैलेंडर जारी

जेल सुधार विशेषज्ञ के तौर पर अपनी खास पहचान बना चुकीं पत्रकार वर्तिका नंदा ने गाजियाबाद की डासना जेल में ‘तिनका तिनका डासना’ की थीम से एक अनूठा कैलेंडर जारी किया है।

Author नई दिल्ली | January 11, 2016 1:43 AM
जेल के कैदियों के दर्द और उम्मीदों को बयां करता ‘तिनका तिनका डासना’ कैलेंडर जारी

जेल सुधार विशेषज्ञ के तौर पर अपनी खास पहचान बना चुकीं पत्रकार वर्तिका नंदा ने गाजियाबाद की डासना जेल में ‘तिनका तिनका डासना’ की थीम से एक अनूठा कैलेंडर जारी किया है। ‘तिनका तिनका डासना’ कैलेंडर, दीवार पेंटिंग, गाने से लेकर कविता और फिर एक नई तरह की किताब के जरिए जेल के कैदियों की सृजनात्मकता को सामने लाने की अपनी तरह की पहली कोशिश है। इस कवायद की पहली कड़ी के तहत छह पन्नों का कैलेंडर जारी किया गया है। इस अनूठे कैलेंडर में डासना से जुड़े कलात्मक और साहित्यिक अंशों को समेटा गया है। कैलेंडर का मुख्य आकर्षण जेल की एक दीवार पर उकेरी गई एक बेहद खास 3-डी पेंटिंग है, जिसे डासना जेल के बंदी विवेक स्वामी, किशन, संजय और दीपक ने बनाया है।

पेंटिंग की अहमियत के बारे में वर्तिका ने बताया, ‘ये कोई ऐसी पेंटिंग नहीं है जिसे किसी दीवार की बदसूरती को ढंकने के लिए बनाया गया हो। यह कला बंदियों के सपने देखने के साहस, उनके दुखों और एक दिन जेल की चहारदीवारी से आजाद होने की उनकी उम्मीदों को जाहिर करती है।’ उन्होंने कहा कि दीवार पर बनाई गई यह पेंटिंग करीब 10 साल तक इसी तरह बनी रहेगी।
वर्तिका ने यह भी बताया कि इन पेंटिंगों में कुछ ऐसे नामों को भी जगह दी गई है जो चुने गए 10 बंदियों से जुडेÞ हुए हैं।

उन्होंने कहा, ‘इनमें एक नाम आरूषि तलवार का भी है। आरूषि के माता-पिता-राजेश और नुपुर तलवार-इसी जेल में बंद हैं।’
वर्तिका ने पेंटिंग के बारे में बताया, ‘इस पेंटिंग का एक सिरा अंधेरे में है जहां चांद और सितारे दिन में जगमगाते दिखेंगे। दूसरे सिरे में उस गाने का अंश है जिसे मैंने लिखा है, लेकिन बंदियों ने गाया है।

इसके ठीक ऊपर चमकता हुआ सूरज है। बीच में 10 नाम हैं। ये वे नाम हैं जो चुने गए इन 10 बंदियों की यादों में शामिल हैं।’ उन्होंने कहा कि इन्हीं में एक नाम आरूषि तलवार का भी है। वर्तिका इससे पहले दिल्ली के तिहाड़ जेल की महिला कैदियों पर ‘तिनका तिनका तिहाड़’ नाम की एक किताब संपादित कर चुकी हैं। उनकी यह किताब लिम्का बुक आॅफ रिकॉर्ड्स में शामिल है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App