ताज़ा खबर
 

कांग्रेसियों ने किया दस सिर वाले पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर के साथ प्रदर्शन, की नाक काटने की कोशिश

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के रेणुका चौधरी की हंसी की तुलना रामायण के धारावाहिक से करने वाले बयान के विरोध में जुलूस निकाला और तस्वीर पर उनकी नाक काटने की कोशिश की।

कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी और पीएम नरेंद्र मोदी की फाइल फोटो।

संसद में कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी की हंसी से उपजा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। उत्तर प्रदेश के वाराणसी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेणुका चौधरी की हंसी की तुलना रामायण के धारावाहिक से करने वाले बयान के विरोध में जुलूस निकाला और तस्वीर पर उनकी नाक काटने की कोशिश भी की। कांग्रेस प्रदर्शनकारियों ने शहर के भारत माता मंदिर से अपना विरोध प्रदर्शन शुरू किया। कांग्रेस कार्यकर्ता हाथ में एक बड़ा सा बैनर लिए थे, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दस सिर बने थे। ईटीवी यूपी भारत नाम के यूट्यूब चैनल पर प्रदर्शनकारियों का एक वीडियो रविवार (11 फरवरी) को शेयर किया गया। वीडियो में प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नारे लगाते दिख रहे हैं और वे प्रधानमंत्री की तुलना रामायण के रावण से कर रहे हैं। प्रदर्शनकारी कहते दिख रहे हैं कि संसद के अंदर खरदूषण, विभीषण, सूपर्णखा नहीं सहेंगे। इस दौरान प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री की तस्वीर पर ही उनकी नाक काटने की कोशिश करते हैं, लेकिन उन्हें काबू करने के लिए पुलिस आ जाती है।

वीडियो में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच खींचतान दिखती है और प्रदर्शनकारी नारे लगाते हैं- ”पुलिस के बल पर तानाशाही नहीं चलेगी।” इस दौरान पुलिस कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लेती है। बता दें कि हाल ही में राज्यसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बोलने के दौरान रेणुका चौधरी जोर से हंस पड़ी थीं। इस पर उपसभापति वेंकैया नायडू ने उनकी डांट भी लगा दी थी। नायडू ने उनसे यहां तक कहा था कि अगर कोई समस्या है तो डॉक्टर को जाकर दिखाओ, लेकिन इस तरह का अनियंत्रित व्यवहार सदन में नहीं चलेगा। वेंकैया नायडू बोल ही रहे थे कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आप रेणुका जी को कुछ मत कहिए, बड़े दिनों के बाद रामायण सीरीयल के बाद ऐसी हंसी सुनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है।

प्रधानमंत्री दरअसल आधार कार्ड को लेकर कह रहे थे कि अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के दौरान ही आधार का बीज बो दिया गया था, लेकिन इसका क्रेडिट कांग्रेस लेती है। प्रधानमंत्री की इस बात पर रेणुका चौधरी जोर से हंस पड़ी थीं। बाद में बीजेपी नेता किरण रिजिजू ने फेसबुक पोस्ट के जरिये रामायण के सीरियल का वो हिस्सा भी शेयर किया था जिसमें धारावाहिक की पात्र सूपर्णखा जोर से हंसती है। हालांकि रेणुका चौधरी ने भी प्रधानमंत्री का पलटवार करते हुए बाद में कहा था कि हंसने पर जीएसटी नहीं लगती है, लेकिन अब यह मुद्दा सियासी अखाड़े में जोर मारता दिखाई दे रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App