ताज़ा खबर
 

Uttrakhand election 2017: भितरघातियों को बाहर निकालने की तैयारी, कांग्रेस हो सकता काफी नुकसान

उत्तराखंड कांग्रेस पार्टी को जयचंदों से मुक्ति दिलाएगी। पार्टी ने व्यापक स्तर पर इस बाबत गहन मंथन किया। जयचंदों के कारण उत्तराखंड में कांग्रेस को विधानसभा चुनाव में काफी नुकसान होने की आशंका है।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत। (फाइल फोटो)

उत्तराखंड कांग्रेस पार्टी को जयचंदों से मुक्ति दिलाएगी। पार्टी ने व्यापक स्तर पर इस बाबत गहन मंथन किया। जयचंदों के कारण उत्तराखंड में कांग्रेस को विधानसभा चुनाव में काफी नुकसान होने की आशंका है। इसलिए कांग्रेस संगठन अब प्रदेश स्तर से लेकर जिला स्तर तक जयचंदों की निशानदेही कर उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाने की तैयारी में जुट गया है। आज देहरादून कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय राजीव भवन में पार्टी के कार्यकर्ताओं की चुनावी समीक्षा बैठक पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय की अध्यक्षता में हुई।
बैठक में मुख्यमंत्री हरीश रावत, कैबिनेट मंत्रियों इंदिरा ह्रदयेश, प्रीतम सिंह, दिनेश अग्रवाल तथा केंद्रीय सहप्रभारी संजय कपूर समेत पार्टी के विधानसभा के 70 उम्मीदवारों, पार्टी के 27 जिला अध्यक्षों, 50 ब्लॉक अध्यक्षों तथा चार प्रकोष्ठों के संयोजको समेत पार्टी के 700 कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। बैठक में तकरीबन तीन घंटे तक विधानसभा चुनाव को लेकर समीक्षा की गई।

विधानसभा चुनाव में पार्टी के उम्मीदवारों के खिलाफ भितरघात करने वाले पार्टी कार्यकर्ताओं के बारे में प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने पार्टी के जिला और ब्लॉक अध्यक्षों से एक हफ्ते के अंदर रिपोर्ट भेजने को कहा है ताकि पार्टी के भितरघातियों की बाहर का रास्ता दिखाया जा सके। इसके अलावा बैठक में 11 मार्च को विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद उपजी राजनीतिक परिस्थितियों से निपटने के लिए एक रोडमैप बनाया गया है।

इसके आधार पर 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर एक रणनीति बनाई जाएगी ताकि भाजपा को प्रदेश में शिकस्त दी जा सके। बैठक में पार्टी कार्यकर्ताओं ने अपनी जमकर भड़ास निकाली और विधानसभा चुनाव में भितरघात करने वालों को सबक सिखाने के लिए कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई किए जाने की पार्टी हाईकमान से मांग की गई। पार्टी संगठन ने सभी70 विधानसभा सीटों के उम्मीदवारों से सिलसिलेबार चुनावी रिपोर्ट मांगी।  बैठक के बाद कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि पिछले एक साल से प्रदेश में कांग्रेस संगठन और सरकार भितरघातियों से जूझ रही है। बागी कांग्रेसी पूर्व विधायकों पर निशाना साधते हुए उपाध्याय ने कहा कि पहले ही पार्टी को ऐसे 14 पूर्व विधायक कमजोर करने की साजिश कर चुके है। अब पार्टी में जो बचे खुचे ऐसे लोग हैं, उनसे भी पार्टी को मुक्ति दिलाना बेहद जरूरी है।

प्रदेश कांग्रेस संगठन की चुनावी बैठक के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं ने प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय की अगुवाई में कांग्रेस भवन से राजभवन तक रसोई गैस सिलेंडरों के दामों बढ़ोतरी के खिलाफ मार्च निकाला और केंद्र सरकार के खिलाफ राज्यपाल को राष्टÑपति के नाम संबोधित ज्ञापन दिया। उपाध्याय ने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के जमाने में मंहगाई सातवें आसमान में पहुंच गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 न जनसभा, न चुनाव दफ्तर! आरएसएस या योगी आदित्यनाथ की मदद के बिना चुनाव लड़ रहा गोरखपुर का यह बीजेपी उम्मीदवार
2 UP Assembly Elections 2017: घोसी में मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास की परीक्षा, 77 से नहीं जीता है कोई मुस्लिम, 2012 में पिता की भी हुई थी हार