ताज़ा खबर
 

राजनाथ सिंह का समर्थन करने वाले शिया धर्मगुरु को मिली जान की धमकी

केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह का समर्थन करने वाले शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद और शिया सूफी संघ के मौलाना हसनैन बकाई को जान से मारने की धमकी मिली है। दोनो उलमा ने इस संबंध में कोतवाली पुलिस में लिखित सूचना दी है।

मौलाना कल्बे जव्वाद ने 4 मई को राजनाथ सिंह का समर्थन किया था। (फाइल फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद लखनऊ संसदीय सीट से भाजपा प्रत्याशी व केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह का समर्थन करने वाले शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद को जान से मारने की धमकी मिली है। कल्बे जव्वाद के साथ ही शिया सूफी संघ के मौलाना हसनैन बकाई को भी जान से मारने की धमकी मिली है।

दोनो उलमा ने इस बारे में कोतवाली पुलिस को शिकायत दी है। मौलाना कल्बे जव्वाद ने बताया कि इंटरनेट कॉलिंग के जरिये उनके पास रविवार रात 8 बजे फोन आया। फोन करने वाले ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी। मौलाना ने कहा कि वह इस तरह की धमकियों से घबराने वाले नहीं हैं।

इसके अतिरिक्त राष्ट्रीय शिया सूफी संघ वर दरगाह बकाईया के नायब सज्जादानशीन शाह सैयद हसनैन बकाई ने बताया कि राजनाथ सिंह का समर्थन करने को लेकर उनके पास भी इंटरनेट कॉल के जरिये फोन आया जिसमें जान से मारने की धमकी दी गई। बकाई ने कहा, ‘फोन करने वाले ने कहा कि तुम्हें पिछले जुमा को मारने की कोशिश की थी लेकिन मौका नहीं मिला। इस बार कोई नहीं बचेगा।’

इससे पहले 4 मई को राजधानी के एक होटल में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मौलान कल्बे जव्वाद ने लोकसभा चुनाव में केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह का चुनाव में समर्थन करने की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि हम अच्छे उम्मीदवार का समर्थन करते हैं। राजनाथ एक अच्छे इंसान हैं। हमारे उनसे रिश्ते पुराने हैं इसलिए हम राजनाथ सिंह के साथ हैं।

हालांकि, उन्होंने भाजपा को समर्थन देने से इनकार किया था। उनका कहना था कि यह उनकी राय है। लोग किसे वोट करें यह खुद उन्हें तय करना है। मौलाना ने राजनाथ सिंह की जीत के लिए दुआ भी की थी। उस दौरान मौलाना कल्बे जव्वाद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर पूछे गए किसी भी सवाल का जवाब देने को लेकर बचते नजर आए थे।

इससे पहले मौलाना और राजनाथ के बीच मुलाकात भी हुई थी। मौलाना ने इसे शिष्टाचार के नाते हुई भेंट बताया था। इसके अलावा राष्ट्रीय शिया सूफी संघ भी राजनाथ सिंह के समर्थन में आ गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X