ताज़ा खबर
 

मुजफ्फरनगर: मां को खोजने निकली थीं दो बहनें, चार लोगों ने बनाया हवस का शिकार, धमकाया- मुंह खोला तो गोली मार देंगे

यूपी के अलीगढ़ और हमीरपुर के बाद मुजफ्फरनगर में दो नाबालिग बच्चियों से गैंगरेप का मामला सामने आया है। चार लोगों ने दो बच्चियों के साथ कथित रूप से गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया।

Author नई दिल्ली | June 13, 2019 3:28 PM
अपनी मां को खोजने खेत की तरफ गई थीं बच्चियां। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

उत्तर प्रदेश में नाबालिग बच्ची के खिलाफ अपराध के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। अलीगढ़, हमीरपुर के बाद अब मुजफ्फरनगर में दो नाबालिग बच्चियों के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। पुलिस के कहना है कि मंगलवार को मुजफ्फरनगर के एक गांव में चार लोगों ने बंदूक दिखाकर 13 साल और 15 साल की बहनों के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया।

ये दोनों बहनें अपनी मां को खोजने के लिए खेतों की तरफ गई थी। एसपी ग्रामीण आलोक शर्मा ने बताया कि इन लड़कियों को अकेला पाकर चार लोगों ने गन्ने के खेत में गैंगरेप किया। एसपी ने बताया कि इन लोगों ने घटना के बारे में किसी को बताने और चिल्लाने पर गोली मारने की धमकी दी।

पुलिस ने इस मामले में चार में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले घटना की जानकारी मिलते ही लड़की के परिवार वालों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस पहले इसे छेड़छाड़ व धमकी देने का मामला बता रही थी। स्थानीय थाना प्रभारी का कहना था कि प्रारंभिक जांच में गैंगरेप का मामला सामने नहीं आया है।

जांच में केवल छेड़छाड़ करने और बुरी नीयत से पीछा करने का मामला सामने आया है। इसके बाद पुलिस ने केस दर्ज किया था। इससे पहले प्रदेश में रेप की बढ़ती घटनाओं के मद्देनजर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस को ग्रामीण क्षेत्रों में गश्त बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

इससे पहले रविवार को प्रदेश में रेप की घटनाओं के बढ़ने पर बसपा अध्यक्ष मायावती ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा था। मायावती ने प्रदेश में खराब कानून व्यवस्था और महिलाओं के प्रति अपराध पर चिंता व्यक्त की थी।

उन्होंने लिखा था, ‘यूपी में अलीगढ़ के बाद अब हमीरपुर में एक मासूम को अगवा कर उसके साथ दुष्कर्म व हत्या की घटना लोगों को काफी ज्यादा विचलित कर रही है। वे आक्रोशित और आंदोलित हो रहे हैं। इन घटनाओं के रोकथाम हेतू समाज और सरकार को ज्यादा सख्त व संवेदनशील होने की जरूरत है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X