ताज़ा खबर
 

उत्तराखंडः इधर तीरथ मंत्रिमंडल का विस्तार, उधर बैठक में फैसला- कोविड-19 निर्देशों के उल्लंघन से जुड़े केस होंगे वापस

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री समेत मंत्रियों की अधिकतम संख्या 12 हो सकती है और 11 मंत्रियों को शपथ दिलाए जाने के साथ ही तीरथ सिंह मंत्रिमंडल पूरा हो गया है।

Author Edited By रुंजय कुमार देहरादून | March 13, 2021 12:34 AM
Tirath Rawat, cabinet , coronaतीरथ सिंह रावत की कैबिनेट ने पहली ही मीटिंग में कोरोना दिशानिर्देशों के उल्लंघन से जुड़े केसों को वापस लेने का फैसला किया है। फोटो- पीटीआई)

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शुक्रवार को अपना मंत्रिमंडल विस्तार करते हुए चार नए सदस्यों समेत 11 मंत्रियों को शामिल किया। रावत मंत्रिमंडल में मदन कौशिक को छोड़ कर पूर्ववर्ती त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार के सभी मंत्रियों को जगह दी गयी है। कौशिक को प्रदेश भाजपा का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। यहां राजभवन में तय समय से करीब 25 मिनट देर से आयोजित एक समारोह में उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने शुक्रवार की शाम मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलायी। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की अध्यक्षता में नवगठित राज्य मंत्रिमंडल की पहली बैठक में ही कोविड-19 दिशानिर्देशों के उल्लंघन से जुड़े मामले को वापस लेने का फैसला किया गया।

उल्लेखनीय है कि दस मार्च को मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने अकेले ही पद और गोपनीयता की शपथ ली थी। इन ग्यारह मंत्रियों में से आठ को कैबिनेट मंत्री का जबकि तीन अन्य को राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) का दर्जा दिया गया है। रावत मंत्रिमंडल में शामिल नए चेहरों में कालाढूंगी से विधायक बंशीधर भगत, डीडीहाट के विधायक बिशन सिंह चुफाल, मसूरी के विधायक गणेश जोशी और हरिद्वार ग्रामीण से विधायक स्वामी यतीश्वरानंद हैं। इनमें से भगत, चुफाल और जोशी को कैबिनेट मंत्री के रूप में जबकि यतीश्वरानंद को राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में जगह दी गयी है।

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री समेत मंत्रियों की अधिकतम संख्या 12 हो सकती है और 11 मंत्रियों को शपथ दिलाए जाने के साथ ही तीरथ सिंह मंत्रिमंडल पूरा हो गया है। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनावों में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह की जगह पार्टी टिकट पाकर चौबट्टाखाल से विधायक बने सतपाल महाराज को नए मंत्रिमंडल में भी नम्बर दो की महत्वपूर्ण जगह दी गयी है। महाराज के अलावा, त्रिवेंद्र सिंह रावत मंत्रिमंडल के सदस्य रहे हरक सिंह रावत, यशपाल आर्य, अरविंद पांडेय, सुबोध उनियाल, धनसिंह रावत और रेखा आर्य भी मंत्रिमंडल में दोबारा जगह हासिल करने में कामयाब रहे।

हालांकि, धनसिंह रावत और रेखा को तीरथ सिंह रावत मंत्रिमंडल में भी बतौर राज्य मंत्री ही शामिल किया गया है। शपथ ग्रहण के बाद अपने मंत्रियों को बधाई देते हुए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि उनकी सरकार सभी के सहयोग से विकास कार्यों को आगे ले जाएगी। अरविंद पांडेय ने संस्कृत में जबकि अन्य सभी मंत्रियों ने हिंदी में शपथ ग्रहण की । वहीं पारंपरिक वेषभूषा पहनकर शपथ लेने पहुंची रेखा आर्य सभी के आकर्षण का केंद्र रहीं। शपथ ग्रहण कार्यक्रम में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत, पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, विजय बहुगुणा और कई विधायकों सहित अनेक गणमान्य लोग मौजूद थे।

उत्तराखंड में कोविड-19 से बचाव के लिए जारी दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने वालों पर दर्ज मामले वापस लिए जाएंगे। यह निर्णय मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की अध्यक्षता में यहां नवगठित राज्य मंत्रिमंडल की पहली बैठक में लिया गया। बैठक के बाद प्रदेश के मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने बताया कि कोविड-19 दिशानिर्देशों के उल्लंघन के दर्ज सभी मामलों को वापस लेने का राज्य मंत्रिमंडल ने निर्णय लिया है। इससे पूर्व, राज्य मंत्रिमंडल के साथ भाजपा संगठन की भी एक बैठक हुई जिसमें नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक और पार्टी मामलों के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम भी मौजूद थे। इस बीच, मुख्य सचिव ने 18 मार्च को राज्य सरकार के चार साल पूर्ण होने के मौके पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम को सभी विधानसभा क्षेत्रों में एकसाथ धूमधाम से मनाने के निर्देश दिए हैं।

Next Stories
1 उत्तराखंडः 2017 में तीरथ सिंह रावत को नहीं मिला था टिकट, लोकसभा में दर्ज की रिकॉर्ड जीत, जानें क्या करती हैं पत्नी
2 उत्तराखंड: सीएम के चार दावेदार, 45 विभाग और कम मंत्री रखने सहित चार कारणों से गई त्रिवेंद्र रावत की कुर्सी
3 सुजलां और सुफलां के लिए बने हिमालय मंत्रालय
ये पढ़ा क्या?
X