ताज़ा खबर
 

इटावा- बेखौफ अपराधियों ने बिगाड़े हालात

इटावा की बात करें तो यहां इतने ज्यादा अपराध शायद ही कभी हुए हों, जितने भाजपा सरकार में हो चुके हैं।

Author मैनपुरी/इटावा, | June 7, 2017 04:40 am
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

जिस कानून व्यवस्था को खराब बताकर योगी सरकार सत्ता पर काबिज हुई अब उसी मुद्दे से भटकती हुई नजर आ रही है। जी हां, पिछली सरकारों की अपेक्षा मात्र तीन महीनों में अपराधी निरंकुश हो गए हैं। इटावा की बात करें तो यहां इतने ज्यादा अपराध शायद ही कभी हुए हों, जितने भाजपा सरकार में हो चुके हैं।  20 मई को सिविल लाइन इलाके मे प्रोफेसर कालोनी में लूटपाट के बाद महिला हत्याकांड की गूंज कानपुर से लेकर लखनऊ तक सुनाई दे रही है, मगर अपराधी को पकड़ना तो दूर सुराग भी नहीं तलाशे जा सके । कुल मिलाकर 19 मार्च के बाद से जिले में अपराधों के ग्राफ में बेतहाशा वृद्धि हुई है। इसे रोकने के लिए कोई कारगर कदम भी नहीं उठाए जा रहे हैं। न ही कोई विशेष अभियान चला और न ही पहले के अभियानों पर काम किया गया।

संगीन वारदात का सिलसिला
पिछले साल मार्च में मात्र एक हत्या, तीन लूटपाट, एक बलात्कार और दो चार चोरियों जैसी घटनाएं रहीं, मगर इस साल दो हत्याएं, आधा दर्जन से ज्यादा लूटपाट के अलावा और कई संगीन वारदातें हुईं। इससे बदतर हालत तो अप्रैल में हो गए। पिछले साल अप्रैल में एक हत्या, चार लूट की घटनाएं हुईं तो इस साल अप्रैल में ग्राफ तेजी से ऊपर चढ़ गया। पिछले साल मई की अपेक्षा इस साल अपराध बढ़ गया। मई 2017 में चार हत्याएं, दर्जन भर से ज्यादा लूटपाट और बड़ी संख्य  में चोरी की घटनाएं सामने आईं। खास बात यह है कि लूटपाट का खुलासा करने में पुलिस ने मई महीने के अंत में तेजी दिखाई, लेकिन हत्याएं और चोरियां अभी अनसुलझी हैं।

कन्नौज में बेखौफ अपराधी
योगी सरकार काबिज होते ही जिले मे अपराधों की बाढ आ गई। पुलिस के आंकड़ों पर गौर करें तो बीते एक साल मार्च तक जिले में 22 हत्याएं और 31 महिलाओं ने बलात्कार के मुकदमे दर्ज कराए थे, जबकि जिले के सात स्थानों पर डकैती और तीन घरों में कच्छा बनियान गिरोह के बदमाशों ने लूटपाट के साथ बलात्कार किए थे। वहीं रोड पर 70 लोगों से छिनैती की घटनाएं हुईं थीं। इस साल एक अप्रैल से अबतक जिले में सात लोगों की हत्या हो चुकी है। इसमें गुरसहायगंज में हुए चर्चित प्रेमी युगल हत्याकांड से लेकर सदर कोतवाली में पैंदाबाद में किशोरी का अपहरण कर बलात्कार के बाद हत्या और फतुआपुर में सर्वेश कटियार का कत्ल पुलिस के लिए मुसीबत रहा। दो माह में जिले के नौ थाना क्षेत्रों में सात नौ दुष्कर्म और 11 लूटपाट के मामले में दर्ज हैं।

मैनपुरी मे भी बिगडी कानून व्यवस्था

समाजवादी पार्टी के सांसद और मुलायम सिंह यादव के नाती तेजप्रताप यादव के संसदीय इलाके मैनपुरी मे भी कानून व्यवस्था की स्थिति अखिलेश सरकार के मुकाबले बेहद नाजुक बन गई।
अपराध
वर्ष 2016 वर्ष 2017
लूट 8 17
हत्या 14 14
बलवा 36 29
वाहन चोरी 79 92
दहेज हत्या 5 6
बलात्कार 28 68
अपहरण 21 35
महिला उत्पीड़न 19 25

 

CWC बैठक: सोनिया गांधी ने किया मोदी सरकार पर हमला

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App