ताज़ा खबर
 

उत्तराखंड: परीक्षा देकर लौट रही छात्रा पर तेजाबी हमला

हरिद्वार में सोमवार को उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक कॉलेज छात्रा के ऊपर दो युवकों ने तेजाब डाल दिया।
Author देहरादून | May 30, 2017 04:37 am
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

हरिद्वार में सोमवार को उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक कॉलेज छात्रा के ऊपर दो युवकों ने तेजाब डाल दिया। इस घटना से पुलिस प्रशासन के हाथ पांव-फूल गए। हरिद्वार में किसी छात्रा पर तेजाब से हमला करने की यह पहली घटना है। कॉलेज छात्रा को गंभीर हालत में हरिद्वार के राजकीय हरमिलाप चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। यह मामला संपत्ति विवाद से जुड़ा माना जा रहा है। पुलिस ने इस बाबत छात्रा की ओर से लिखवाई गई रिपोर्ट के आधार पर आरोपियों को पकड़ने के लिए कई जगह दबिश भी दी। अभी तक आरोपी पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ पाए हैं।

राजकीय चिकित्सालय के वरिष्ठ चिकित्साधिकारी डॉ केके करोली ने बताया कि छात्रा की हालत गंभीर है और उसका इलाज डॉक्टरो का एक दल कर रहा है। पुलिस के मुताबिक हरिद्वार के उपनगर कनखल में स्थित महिला महाविद्यालय में एमकॉम प्रथम वर्ष की छात्रा परीक्षा देकर कॉलेज से अपने घर टिहरी विस्थापित कॉलोनी बीएचईएल शिवालिक नगर जा रही थी। रास्ते में उपनगर ज्वालापुर के लालपुल के पास उसकी स्कूटी बंद हो गई। इतने में पीछे पल्सर मोटरसाइकिल में सवार दो युवक उसके पास आकर रुके और उन्होंने उसके साथ बदसलूकी की। और उसके ऊपर तेजाब डाल दिया। घायल छात्रा ने बताया कि उसने इन दो युवकों में से एक युवक सुधीर को पहचान लिया। उस युवक ने उसके ऊपर तेजाब डाला और कहा कि जब जिंदा बचेगी तो ही मुकदमा करेगी। छात्रा के मुताबिक सुधीर उसकी मां के नाम टिहरी विस्थापित कॉलोनी शिवालिकनगर बीएचईएल में एक प्लॉट को लेकर पिछले कई महीनों से विवाद खड़ा कर रहा है।

छात्रा ने बताया कि 25 मई को सुधीर नामक यह युवक अपने एक साथी के साथ उसके घर आया था और उससे बदसलूकी की। साथ ही उसके कनपटी पर रिवाल्वर तान दी थी। उसने इस घटना की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई थी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को भी इस बारे में शिकायत की थी। परंतु पुलिस ने राजनीतिक दबाव के चलते उस युवक के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। तेजाबी हमले में छात्रा के दोनों हाथ पीठ और शरीर के अन्य नाजुक अंग झुलस गए हैं। लड़की की मां ने बताया कि उसकी बेटी पर हमला करने वालों के खिलाफ पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की और वे खुलेआम घुमते रहे। अगर पुलिस समय रहते इन युवकों के खिलाफ कार्रवाई करती तो आज उसकी बेटी का जीवन खतरे में ना पड़ता। छात्रा की मां ने आरोप लगाया कि भाजपा के एक विधायक की शह पर इन युवकों ने उसकी बेटी पर जानलेवा हमला किया है। महिला महाविद्यालय की प्रचार्या डॉक्टर शशि प्रभा ने बताया कि पीड़ित छात्रा सुबह की शिफ्ट में पेपर देने के बाद कॉलेज से एक बजे घर के लिए रवाना हो गई थी। उन्हें दोपहर बाद इस वारदात की सूचना मिली। उन्होंने पुलिस के आला अधिकारियों को कॉलेज की छात्राओं की सुरक्षा के लिए पत्र भेजा है। ज्वालापुर पुलिस कोतवाली के प्रभारी इंस्पेक्टर अमरजीत सिंह ने बताया कि आरोपियों की तलाश जारी है।

 

पहले आतंकवाद खत्म करो फिर भारत के साथ क्रिकेट खेलना : विजय गोयल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.