ताज़ा खबर
 

जवान से छीन-झपट में चली गोली, कांवड़िए की मौत

पुलिस मृतक को कांवड़िया नहीं मान रही है। लेकिन प्रत्यक्षदर्शी उसे कांवड़िया बता रहे हैं।

Author देहरादून | Published on: July 16, 2017 2:50 AM
कांवड़ यात्रा।

हरिद्वार में एक धुत्त कांवड़िया आइटीबीपी के जवान के साथ राइफल की छीना-झपटी में गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे देहरादून के जौलीग्रांट हिमालयन अस्पताल ले जाया गया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। हालांकि पुलिस मृतक को कांवड़िया नहीं मान रही है। लेकिन प्रत्यक्षदर्शी उसे कांवड़िया बता रहे हैं। मिली जानकारी के मुताबिक हरियाणा निवासी कांवड़िया विकास कुमार हरिद्वार के खड़खड़ी क्षेत्र में स्थित सर्वानंद घाट पर नशे की हालत में पड़ा था। वहां ड्यूटी पर तैनात आइटीबीपी के एक जवान ने उसे घाट से हटाने का प्रयास किया। इस पर कांवड़िया जवान पर झपट पड़ा। छीना-झपटी में जवान की राइफल से गोली चल गई। गोली विकास की जांघ में लगी। इससे वह घायल हो गया।  नगर पुलिस अधीक्षक ममता वोहरा का कहना है कि घायल व्यक्ति कांवड़िया नहीं था। जब उसे गंगा घाट के किनारे से आइटीबीपी का जवान हटाने लगा तो उस व्यक्ति ने उस जवान से छीना-झपटी की।

इस दौरान आइटीबीपी के जवान की राइफल से गोली चल गई और उस व्यक्ति को लग गई। उसे इलाज के लिए देहरादून के जौलीग्रांट हिमालयन अस्पताल ले जाया गया है। वहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। हालांकि प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि विकास कांवड़िया था। वह अपना सामान घाट पर रखकर नदीं में स्नान करने गया था। आजकल हरिद्वार में जहां धार्मिक कांवड़ यात्रा पूरे जोरों पर है। वहीं तीर्थनगरी हरिद्वार में नशे और देह व्यापारी तेजी से सक्रिय हैं। हरिद्वार में कांवड मेले के साथ-साथ सुल्फा, चरस और भांग का कारोबार लाखों रुपए का है। बड़ी तादाद में कांवड़िए भांग, सुल्फा और चरस का नशा करते हैं। पुलिस भी इन नशेड़ी कांवड़ियों को पकड़ने से बचती है। इसलिए ये नशेड़ी कांवड़िए जमकर उधम मचाते हैं। कांवड़ मेले के दौरान इनकी स्थानीय दुकानदारों के साथ मारपीट की घटनाएं होती रहती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 दो सरकारों के बीच उलझी हुई है ज्ञान गोदड़ी गुरुद्वारे की स्थापना
2 उत्तराखंड: केदारनाथ की ‘आपत्तिजनक’ फोटो पोस्ट करने पर भड़का सांप्रदायिक तनाव, बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने तोड़फोड़ के बाद लगाई आग
3 पहाड़ पर संकट: मंडी-कुल्लू में तीन दशक में जा चुकी हैं 500 से अधिक जानें
ये पढ़ा क्या?
X