ताज़ा खबर
 

देहरादून: सुबह 4 बजे बूचड़खाने पहुंची पुलिस, अवैध तरीके से काटे जा रहे थे गोवंश

देहरादून के एसपी अजय सिंह ने कहा कि, अवैध बूचडखानों के खिलाफ पुलिस ने अभी अभियान शुरू ही किया है। आने वाले दिनों में भी ऐसे छापेमारी जारी रहेंगे।

इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के बाद अब उत्तराखंड की पुलिस ने भी अवैध बूचड़खानों के खिलाप अभियान शुरू कर दिया है। शनिवार (8 अप्रैल) सुबह 4 बजे जब देहरादून शहर नींद के आगोश में था तो पुलिस ने यहां के अवैध बूचड़खानों में छापा मारा। और कई गोवंश को काटे जाने से बचाया। अंग्रेजी वेबसाइट द हिन्दुस्तान टाइम्स के मुताबिक पुलिस को शहर के कई मुस्लिम बहुत इलाके में जानवरों को काटे जानें की शिकायतें मिल रही थी, पुलिस ने शिकायतों पर कार्रवाई करते हुए शनिवार को कई अवैध कसाईघरों में छापा मारा। पुलिस जब यहां सुबह सुबह पहुंची तो यहां का नज़ारा बेहद हैरान करने वाला था। यहां अवैध बूचड़खाना चलाने वाले लोग अवैध रूप से जानवर काट रहे थे, इन जानवरों का खून खुले रुप से नाली में डाला जा रहा था। यही नहीं यहां जानवरों को काटने के बाद पैदा होने वाले अवशिष्ट पदार्थों के भी उचित निपटान की व्यवस्था नहीं थी।

पुलिस की इस छापेमारी टीम में नगर निगम, जिला प्रशासन, और फूड सेफ्टी डिपार्टमेंट के अधिकारी शामिल थे। पुलिस ने सबसे पहले मुस्लिम बहुल इलाके में स्थित इनामुल्लाह बिल्डिंग में छापा मारा, हिन्दुस्तान टाइम्स के सूत्रों के मुताबिक यहां कई गोवंश को बहुंत ही अस्वास्थ्यकर हालात में काटा जा रहा था। इन जानवरों को काटने से निकलने वाला खून सार्वजनिक नलियों में बह रहा था जो कि पर्यावरण के नियमों का सरासर उल्लंघन है। फूड सेफ्टी डिपार्टमेंट के अधिकारी अनोज कुमार थपलियाल ने बताया कि अंदर हालत बेहद खराब हैं।
पुलिस ने इसके बाद कर्गी चौक और चुखुवाला में अवैध कत्लखानों में छापा मारा। यहां भी हालत ऐसे ही थे।

पुलिस ने इस मामले में 7 लोगों को नोटिस भेजा है। इन लोगों को तीन दिनों के अंदर फूड सेफ्टी को जवाब सौंपने को कहा गया है। पुलिस ने इनके खिलाफ अवैध तरीके से गोवंश को काटने और पर्यावरण नियमों का उल्लंघन करने का मामला दर्ज किया है। सूत्रों के मुताबिक देहरादून जिले में लगभग 50 कसाईखाने अवैध रुप से चल रहे हैं। देहरादून के एसपी अजय सिंह ने कहा कि, अवैध बूचडखानों के खिलाफ पुलिस ने अभी अभियान शुरू ही किया है। आने वाले दिनों में भी ऐसे छापेमारी जारी रहेंगे।

राजस्थान: अलवर में गौ-रक्षकों ने गायों की तस्करी के शक में कुछ लोगों को जमकर पीटा, 1 की मौत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App