ताज़ा खबर
 

अब देशभर के जानवरों का होगा अपना यूनीक आधार नंबर, उनमें लगाए जाएंगे माइक्रो चिप्स, उत्तराखंड में हुई शुरुआत

सेंट्रल जू ऑथरिटी के सचिव डॉ. डीएन सिंह का कहना है कि इस अभियान के शुरुआत में देश के 166 में से 26 चिड़ियाघरों के जानवरों के शरीर में चिप लगाने का काम किया जाएगा।

Author देहरादून | March 3, 2017 3:21 PM
इसके जरिए सभी पर आसानी से नजर रखी जा सकेगी और साथ ही उन्हें शिकारियों से सुरक्षित रखा जा सकेगा।

देशभर में जिस प्रकार इंसानों को उनका आधार कार्ड के रूप में यूनीक नंबर दिया गया है उसी तरह अब जानवरों का भी आधार कार्ड बनवाया जाएगा। सेंट्रल जू अथॉरिटी द्वारा एक अभियान चलाया जा रहा है जिसमें जानवरों के शरीर में एक माइक्रो चिप लगाई जाएगी। इस चिप को लगाने के बाद कोई कहीं से भी जानवरों के बारे में हर प्रकार की जानकारी ले सकता है। इस अभियान की शुरुआत उत्तराखंड के देहरादून के चिला हाथी रेंज और मालसी डियर पार्क से की गई है जहां पर मौजूद हाथी, गुलदार, घड़ियाल, गिद और कछुवों के शरीर में चिप लगाई गई है।

इस चिप के लगाने के बाद अब सभी जानवरों के पास इंसानों की ही तरह अपना यूनीक आधार नंबर होगा। इस अभियान के तहत देशभर के सभी चिड़ियाघर के जानवरों में इन चिप को लगाया जाना है। चिप को लगाने के बाद इसे जिम नाम के एक सॉफ्टवेयर से जोड़ा जाएगा जिससे कि सभी चिड़ियाघर एक दूसरे से कनेक्ट हो जाएंगे। वहीं देहरादून के मालसी डियर पार्क के निदेशक पीके पात्रो ने बताया कि जीवों के शरीर में चिप लगाने का काम बहुत ही कठिन है लेकिन इसे तीन चरणों में पूरा किया जाएगा।

सेंट्रल जू ऑथरिटी के सचिव डीएन सिंह का कहना है कि इस अभियान की शुरुआत में देश के 166 में से 26 चिड़ियाघरों के जानवरों के शरीर में चिप लगाने का काम किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस काम को करने में तीन साल लग जाएंगे। आपको बता दें कि इन सभी चिड़ियाघरों में हजारों की तदाद में जीव रहते हैं लेकिन इनका बाहरी कोई रिकॉर्ड नहीं है। इन चिप के जरिए जानवरों का इतिहास जाना जा सकेगा। इसके साथ ही सभी चि़ड़ियाघरों की निगरानी की जा सकेगी और कोई भी अपनी मनमानी के जानवरों को इधर से उधर नहीं भेज पाएगा।

वहीं पीपल्स फॉर एनिमल संस्था की गौरी मौलखी कहती हैं कि इससे पहले जानवरों का कोई रिकॉर्ड नहीं रखा गया था। इसके जरिए सभी जानवरों पर आसानी से नजर रखी जा सकेगी और साथ ही उन्हें शिकारियों से भी सुरक्षित रखा जा सकेगा।

देखिए वीडियो - बर्ड फ्लू का कहर! दिल्ली के चिड़ियाघर के बाद, अब डियर पार्क को भी बंद किया गया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App