एबीपी-सीवोटर सर्वे: उत्तराखंड में भाजपा की मजबूत पकड़, फिर कर सकती है सत्ता में वापसी, धामी नहीं पहली पसंद

सर्वे के मुताबिक धामी के नेतृत्व में उत्तराखंड में भाजपा की मजबूत पकड़ बनी हुई है। एबीपी सीवोटर का सर्वे कहता है कि भाजपा का वोट शेयर इस बार थोड़ा सा बढ़ सकता है। अगर अभी चुनाव हुए तो उत्तराखंड में कुल 70 सीटों में से 42 से 44 सीटैं मिल सकती हैं।

pushkar singh dhami, bjp, uttrakhand
उत्तराखंड में शनिवार को बीजेपी विधायक दल के नेता चुने जाने के बाद देहरादून स्थित पार्टी दफ्तर से बाहर आने के बाद अभिभावन स्वीकारते पुष्कर सिंह धामी। (फोटोः पीटीआई)

पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के अब कुछ ही महीने शेष हैं। साल 2022 में गोवा, मणिपुर, पंजाब, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव कराए जाएंगे। इन राज्यों में सबसे ज्यादा चर्चा का विषय उत्तर प्रदेश औऱ पंजाब बना हुआ है। हालांकि उत्तराखंड भी सियासत के लिहाज से कम महत्वपूर्ण नहीं है। भाजपा एक साल एक अंदर ही यहां दो मुख्यमंत्री बदल चुकी है। वर्तमान में पुष्कर सिंह धामी यहां के मुख्यमंत्री हैं। हालांकि सीवोटर के सर्वे की बात करें तो धामी मुख्यमंत्री के तौर पर लोगों की पहली पसंद नहीं हैं। हरीश रावत मुख्यमंत्री के रूप में लोगों की पहली पसंद हैं।

राज्य में 37 फीसदी लोग चाहते हैं कि हरीश रावत मुख्यमंत्री बनें। वहीं 24 फीसदी लोग पुष्कर धामी को फिर से सीएम के रूप में देखना चाहते हैं। इसके अलावा 19 फीसदी लोग अनिल बलूनी को मुख्यमंत्री के रूप में पसंद करते हैं। चौथा नंबर आम आदमी पार्टी के करनल अजय कोठियाल का है जिन्हें 10 फीसदी लोग पसंद करते हैं।

सर्वे के मुताबिक धामी के नेतृत्व में उत्तराखंड में भाजपा की मजबूत पकड़ बनी हुई है। एबीपी सीवोटर का सर्वे कहता है कि भाजपा का वोट शेयर इस बार थोड़ा सा बढ़ सकता है। अगर अभी चुनाव हुए तो उत्तराखंड में कुल 70 सीटों में से 42 से 44 सीटैं मिल सकती हैं। वहीं कांग्रेस का गठबंधन 21 से 25 सीटों पर जीत हासिल कर सकता है। इस बार आम आदमी पार्टी भी उत्तराखंड में जोर आजमाइश कर रही है। सर्वे के मुताबिक यहां आप को ज्यादा फायदा होता नहीं दिख रहा है। पार्टी को 0 से 4 सीटें मिलने का अनुमान है।

किस राज्य का क्या है हाल?
उत्तर प्रदेश में अगर अभी चुनाव कराए जाएं तो भाजपा को बहुमत मिलने की पूरी संभावना है। वहीं पंजाब में आम आदमी पार्टी को कांग्रेस की सियासी कलह का फायदा मिलता हुआ दिखायी दे रहा है। पार्टी सरकार बनाने की स्थिति में है। मणिपुर की बात करें तो यहां फिर से भाजपा की वापसी हो सकती है। पिछली बार के मुकाबले सीटें भी बढ़ सकती हैं। गोवा में पिछली बार भाजपा ने गठबंधन की सरकार बनाई थी लेकिन इस बार स्पष्ट बहुमत भी मिल सकता है।

पढें उत्तराखंड समाचार (Uttarakhand News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट