scorecardresearch

Ropeway Accident: नहीं थम रहा रोपवे हादसा! 45 मिनट तक हवा में लटके रहे BJP विधायक समेत 60 लोग

सुरकंडा देवी मंदिर समुद्र तल से 2,750 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। कद्दूखाल से मंदिर परिसर तक करीब डेढ़ किमी की खड़ी चढ़ाई है।

Ropeway Accident: नहीं थम रहा रोपवे हादसा! 45 मिनट तक हवा में लटके रहे BJP विधायक समेत 60 लोग
प्रशासन को जानकारी देते बीजेपी विधायक किशोर उपाध्याय। ( फोटो सोर्स: @NikhilCh_)।

उत्तराखंड के सुरकंडा देवी मंदिर रोपवे पर झारखंड के देवघर जैसा हादसा होने से बच गया। यहां बीजेपी विधायक समेत करीब 60 लोग हवा में लटके रहे। बताया जा रहा है कि तकनीकी खामियों के चलते सुरकंडा देवी मंदिर रोपवे सेवा कुछ देर के लिए अचानक ठप हो गई थी। ट्रॉली में सफर कर रहे टिहरी विधायक किशोर उपाध्याय ने तुरंत घटना की जानकारी स्थानीय प्रशासन को दी। जिसके बाद जिला प्रशासन हरकत में आया और टेक्निकल टीम को मौके पर भेजा। कुछ देर फंसे रहने के बाद रोपवे सेवा का संचालन फिर से शुरू हुआ।

बीजेपी विधायक ने घटना के बारे में क्या बताया-
घटना के बारे में टिहरी बीजेपी विधायक किशोर उपाध्याय ने बताया कि जिस तरह से बीच में ट्राली रुक गई। वो बहुत ही चिंताजनक है। इस मामले को गंभीरत से लेना चाहिए। हम किसी की जिंदगी को खतरे में नहीं डाल सकते हैं। मैं पर्यटन सचिव से भी बात करूंगा और जो लोग इसको देख रहे हैं और जो लोग इसको चला रहे हैं, उनसे भी बात करूंगा।

बीजेपी विधायक ने कहा कि हम सभी लोग स्वस्थ हैं, ऐसे में कोई हार्ट का मरीज होता तो क्या होता। बीजेपी विधायक ने कहा कि जब इसकी शुरुआत हुई थी, तब शायद किसी प्रकार की कोई दिक्कत इसमें थी और आज जब मैं आया तो हादसा होने से बच गया। यह बहुत ही चिंता का विषय है। हम किसी की जिंदगी को खतरे में नहीं डाल सकते हैं। हमने सिंगापुर रोपवे देखा वो बहुच तेज चलती हैं, लेकिन वहां ऐसी कोई दिक्कत नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार को सुनिश्चित करना चाहिए कि इस तरह की घटना फिर से न हो।

टिहरी गढ़वाल एसएसपी नवनीत भुल्लर ने बताया, ‘सुरकंडा देवी मंदिर के रोपवे ट्रॉली में तकनीकी खराबी के कारण 20 से 25 मिनट तक रुका रहा। सभी यात्री सुरक्षित बाहर आ गए हैं और रोपवे अब सुचारू रूप से चल रहा है। ट्रॉली में कोई यात्री नहीं फंसा है।

बता दें यह रोपवे करीब 32 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है। रोपवे में 16 डिब्बे लगाए गए हैं। एक डिब्बे में छह लोग सफर कर सकते हैं। सुरकंडा देवी मंदिर समुद्र तल से 2,750 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

कद्दूखाल से मंदिर परिसर तक करीब डेढ़ किमी की खड़ी चढ़ाई है, जिसे चढ़ने में करीब डेढ़ से दो घंटे लगते थे, लेकिन अब रोपवे शुरू होने से यहां आने वाले श्रद्धालुओं को डेढ़ किलोमीटर खड़ी चढ़ाई नहीं चढ़नी होगी।टिहरी के कद्दूखाल क्षेत्र स्थित सिद्धपीठ मां सुरकंडा देवी के दर्शन को रोजाना बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.