scorecardresearch

Uttarakhand SSSC paper leak case:  अब तक 83 लाख बरामद, एक पेपर 15 से 20 लाख में बेचा गया, एसटीएफ के एसएसपी बोले- ईडी कर सकती है मामले की जांच

UKSSSC paper leak case: उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग पेपर लीक मामले पर अभी तक 18 लोग गिरफ्तार किए गए हैं। इसमें उत्तरकाशी जिला पंचायत सदस्य और भाजपा नेता हाकम सिंह रावत भी शामिल है।

Uttarakhand SSSC paper leak case:  अब तक 83 लाख बरामद, एक पेपर 15 से 20 लाख में बेचा गया, एसटीएफ के एसएसपी बोले- ईडी कर सकती है मामले की जांच
UKSSSC: सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा है कि इस मामले में किसी भी दोषी को छोड़ा नहीं जाएगा। (Photo- Indian Express File)

उत्तराखंड सेवा चयन आयोग (यूकेएसएसएससी) पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने अब तक 83 लाख रुपए बरामद किए हैं। एसटीएफ को यह भी पता चला है कि प्रत्येक पेपर 15 से 20 लाख रुपए में बेचा गया था, इसलिए आशंका है कि इस केस में बड़ी मात्रा में धन शामिल है। एसटीएफ के एसएसपी अजय सिंह का कहना है कि इस मामले की जांच प्रवर्तन निदेशालय (ED) भी कर सकता है।

एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि गिरफ्तार शिक्षक ने इस मामले में यूपी के कई नकल माफिया के नाम बताए हैं, जिनके माध्यम से नकल का पूरा खेल कई वर्षों से खेला जा रहा है। इस पूछताछ से उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के नकल माफिया के गठजोड़ का खुलासा हुआ है। जल्द ही मास्टरमाइंड को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इसके बाद गिरोह का खुलासा हो जाएगा।

एसटीएफ ने छात्रों से कहा कि वे आकर अपना बयान दर्ज कराएं

अफसरों का कहना है कि गिरोह के सदस्यों को जिन छात्रों ने पैसे दिए हैं, वे खुद आकर पुलिस के सामने अपना बयान दर्ज करा दें और जांच कार्य में पुलिस का सहयोग करें। अगर वे खुद नहीं आते हैं तो पुलिस उन्हें गिरफ्तार करेगी। पुलिस के पास ऐसे छात्रों के बारे में पुख्ता जानकारी है।

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग पेपर लीक मामले पर अभी तक 18 लोग गिरफ्तार किए गए हैं। इसमें उत्तरकाशी जिला पंचायत सदस्य और भाजपा नेता हाकम सिंह रावत भी शामिल है। उसकी गिरफ्तारी के बाद अब उत्तरकाशी के कई व्यक्तियों के नाम सामने आ रहे हैं। इनमें से एक विधायक और उनके भाई भी हैं। इन नामों के आने से हड़कंप मचा हुआ है।

गिरफ्तार व्यायाम शिक्षक से पुलिस कर रही पूछताछ

पुलिस का कहना है कि हाकम सिंह से 12 घंटे तक पूछताछ की गई। इसके बाद पता चला कि उसके लेन-देन का पूरा हिसाब उत्तरकाशी के राजकीय इंटर कालेज (मोरी) में तैनात व्यायाम शिक्षक तनुज शर्मा रखता था।

इस मामले को लेकर सीएम पुष्कर सिंह धामी ने भी गंभीरता दिखाई है। उन्होंने साफ किया है कि जो भी दोषी होगा उसे किसी भी हालत में छोड़ा नहीं जाएगा। कहा कि युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ करने वाले किसी भी भ्रष्टाचारी को कोई रियायत नहीं दी जाएगी। चाहे वह कितना भी ताकतवर क्यों न हो, उसे जेल जाना ही होगा।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.