ताज़ा खबर
 

डॉगी के लिए महिला ने तय की 349 KM की दूरी, उत्तराखंड से आकर नोएडा में तलाश जारी; पुलिस में की शिकायत

उत्तराखंड की एक महिला अपने लापता डॉगी की तलाश में नोएडा तक पहुंच गई। उसने जगह-जगह पर्चे चस्पा करवाएं हैं कि जो भी डॉगी को खोजेगा उसे 10 हजार रुपए ईनाम दिया जाएगा।

Author उत्तराखंड | July 13, 2019 3:56 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- जनसत्ता

उत्तराखंड की रहने वाली प्रज्ञा मिश्रा एक डॉग लवर हैं। इनकी डॉग्स के प्रति दीवानगी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने अपने लापता फीमेल डॉग (कुकी) की तलाश में 349 किलोमीटर की दूरी तय कर दिल्ली से सटे नोएडा तक का सफर तय किया। यहां कई दिनों की तलाश के बाद जब उन्हें सफलता नहीं मिली तो उन्होंने सैकड़ों पर्चे छपवाकर और कुकी को खोजकर लाने वाले को 10 हजार ईनाम देने की घोषणा की। इसके लिए उन्होंने नॉलेज पार्क पुलिस स्टेशन में शिकायत भी दर्ज कराई थी।

National Hindi News, 13 July 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

दरअसल, उत्तराखंड की 31 वर्षीय प्रज्ञा मिश्रा 28 मई को दक्षिण दिल्ली के ग्रेटर कैलाश एन ब्लॉक में किसी काम से आई थी। तब उन्होंने सड़क के किनारे देशी नस्ल के कुत्ते को देखा। जो शायद घर का रास्ता भटक गया था और मालिक की तलाश में था। बकौल प्रज्ञा अगले दिन फिर मैंने उसे सड़क पर रोते देखा तो मैं उसे अपने घर ले आई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रज्ञा ने बताया कि उसे उत्तराखंड वापस लौटना था। ऐसे में मैंने एक ऐसे परिवार की तलाश शुरू की, जो उसे (डॉगी) को गोद ले सके। इस बीच अमेरिका के एक व्यक्ति ने मुझे बताया कि वह कुकी (डॉगी) को गोद लेने के लिए एक या दो महीने के भीतर भारत आएगा। उसने तब तक डॉगी को कन्नन पशु कल्याण केंद्र में भेजने के लिए कहा। इसके लिए उसने 500 डॉलर का भुगतान भी किया था। लेकिन इस बीच कुकी केंद्र से लापता हो गई।

बकौल प्रज्ञा तब से वह डॉगी की तलाश कर रही है लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। प्रज्ञा ने दावा किया कि उसने नोएडा पुलिस से भी इस मामले में संपर्क किया था लेकिन उन्होंने शिकायत दर्ज करने से इनकार कर दिया और कहा कि पुलिस के पास खोए हुए कुत्ते की तलाश करने का समय नहीं है। हालांकि, नॉलेज पार्क पुलिस स्टेशन के एक जांच अधिकारी ने कहा कि हमने शिकायत दर्ज की और जांच जारी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App