scorecardresearch

Pauri Bus Accident: पौड़ी जिले में बारात लेकर जा रही बस खाई में गिरी, 25 की मौत, 21 घायलों को निकाला गया

Uttarakhand Accident, Bus Accident in Pauri Garhwal Bironkhal: बस हरिद्वार जिले के लालढांग से पौड़ी के बीरोंखाल गांव जा रही थी। इसमें करीब 45 से 50 लोग सवार थे।

Pauri Bus Accident: पौड़ी जिले में बारात लेकर जा रही बस खाई में गिरी, 25 की मौत, 21 घायलों को निकाला गया
पौड़ी गढ़वाल बिरोंखाली में बस दुर्घटना, Pauri Bus Accident: पौड़ी जिले में दुर्घटनास्थल पर खाई में गिरी बस और राहत कार्य में लगे लोग। (Photo- ANI)

Pauri Garhwal Bus Accident News: उत्तराखंड के पौड़ी जिले में मंगलवार की रात हुए एक बड़े हादसे में बारात लेकर जा रही बस खाई में गिर गई। घटना पौड़ी गढ़वाल जिले के सिमड़ी गांव के पास रिखनीखाल-बिरोखल मार्ग पर हुई थी। बस में करीब 45 से 50 लोग सवार थे। डीजीपी अशोक कुमार ने जानकारी दी कि धूमाकोट में हुए इस बस हादसे में 25 लोगों की मौत हो गई। पुलिस और एसडीआरएफ ने रात में 21 लोगों को बचाया। घायलों को पास के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। डीजीपी अशोक कुमार के मुताबिक बस 500 मीटर नीचे खाई में गिरी थी।

स्थानीय लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके पर राहत और बचाव कार्य किया। बस हरिद्वार जिले के लालढांग से पौड़ी के बीरोंखाल गांव जा रही थी। रास्ते में अचानक बस अनियंत्रित हो गई, जिससे यह हादसा हो गया। विधायक दिलीप सिंह रावत ने भी घटना की पुष्टि की है।

उन्होंने कहा कि खाई बहुत ज्यादा गहरी है। देर रात करीब 11:50 बजे तक नौ घायलों को खाई से निकालकर अस्पताल पहुंचा दिया गया था। खाई ज्यादा गहरी होने और घटनास्थल पर घना अंधेरा होने से रेस्क्यू कार्य में काफी मुश्किलें आ रही हैं। प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि दुर्घटनास्थल पर रोशनी की कोई व्यवस्था नहीं है और ग्रामीण अपने मोबाइल फोन की फ्लैश लाइट की मदद से बस में फंसे लोगों को बचाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

घटना पर दुख जताते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ट्वीट किया, “पौड़ी जिले के सिमड़ी गांव के निकट यात्रियों को ले जा रही बस के खाई में गिरने का दुर्भाग्यपूर्ण समाचार प्राप्त हुआ है जिसके दृष्टिगत आपदा प्रबंधन विभाग पहुंचकर राहत एवं बचाव कार्यों की समीक्षा कर रहा हूं।” उन्होंने जानकारी दी, “राज्य आपदा मोचन बल (SDRF) की टीमें घटनास्थल पर रेस्क्यू में जुटी हैं। हम सभी सुविधाएं दुर्घटनास्थल तक पहुंचाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। बचाव अभियान में स्थानीय ग्रामीण भी मदद कर रहे हैं।”

धुमाकोट थानाध्यक्ष दीपक तिवारी के मुताबिक, “बस की लाइट अचानक बंद होने पर घटनास्थल के पास के गांवों के लोगों ने ग्रामीणों को फोन से घटना की सूचना दी। सूचना मिलते ही लोग घटनास्थल की ओर दौड़ पड़े। कोटद्वार के सीओ जीएल कोहली के नेतृत्व में कोटद्वार से भी पुलिस टीम घटनास्थल के लिए रवाना हो गई है।”

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 04-10-2022 at 09:43:00 pm
अपडेट