scorecardresearch

आप केवल पूर्व मुख्यमंत्री हैं और मुलायम सिंह के बेटे, अखिलेश ने बृजेश पाठक के ACS को लिखे पत्र पर उठाए सवाल तो बोले केशव मौर्य

लखनऊः केशय प्रसाद मौर्य ने कहा कि अखिलेश यादव जी सवाल उठाते हैं। लेकिन उनके शासनकाल के समय से लेकर 2022 तक वो 4 बार चुनाव हार चुके हैं।

आप केवल पूर्व मुख्यमंत्री हैं और मुलायम सिंह के बेटे, अखिलेश ने बृजेश पाठक के ACS को लिखे पत्र पर उठाए सवाल तो बोले केशव मौर्य
यूपी डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ( फाइल फोटो – पीटीआई)

अपने विभाग में पीठ पीछे किए गए तबादलों से नाराज डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने एडिशनल चीफ सेक्रेट्री को पत्र लिखा तो अखिलेश यादव ने सरकार के कामकाज को लेकर कटाक्ष किया। सरकार की तरफ से योगी के एक और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सपा सुप्रीमो पर तीखा प्रहार कर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक के ACS अमित मोहन को लिखे गए पत्र पर अपनी प्रतिक्रिया दी।

केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि अखिलेश यादव जी सवाल उठाते हैं। लेकिन उनके शासनकाल के समय से लेकर 2022 तक वो 4 बार चुनाव हार चुके हैं। मैंने उनको सदन में भी यही बात कही कि अब आप मुख्यमंत्री नहीं हो, अब पूर्व मुख्यमंत्री हो और पूर्व मुख्यमंत्री के पुत्र हो। इसके सिवा आप कुछ नहीं हो। ग्राम विकास हो या नगर विकास हो, युवाओं-महिलाओं-किसानों की दृष्टि से जितना अच्छा काम देश में मोदी जी और प्रदेश में योगी जी के नेतृत्व में हम कर रहे हैं, ऐसा काम अगर अखिलेश जी ने काम किया होता तो 400 सीटों का दावा करने वाले ऐसे सिमट कर नहीं रह जाते।

ब्रजेश पाठक के ACS को लिखे पत्र पर प्रतिक्रिया देते हुए उपमुख्यमंत्री मौर्य ने कहा कि ब्रजेश पाठक जी हमारे उपमुख्यमंत्री हैं, जिनके बारे में आपने सवाल पूछा है। मंत्री के नाते उनको अधिकार है सवाल करने का। उनको ही नहीं किसी भी जनप्रतिनिधि को अधिकार है सवाल करने का। अगर कोई गड़बड़ी करेगा तो कार्रवाई होकर रहेगी।

अखिलेश ने मंगलवार को ब्रजेश पाठक के स्वास्थ्य विभाग में किए गए तबादलों पर सवाल उठाए जाने का जिक्र करते हुए कहा था कि उपमुख्यमंत्री लखनऊ छोड़कर गए और वापस आए तो उन्हें पता लगा कि उनसे पूछे बगैर स्वास्थ्य विभाग में तबादले कर दिए गए। ये वही उपमुख्यमंत्री हैं जिन्होंने सरकारी अस्पताल में सबसे ज्यादा छापेमारी की। लेकिन तमाम कमियां मिलने के बावजूद अगर उन्होंने किसी पर भी कार्यवाही की हो तो बता दीजिए। इसका मतलब यह है कि सरकार को कोई पीछे से चला रहा है।

पढें उत्तर प्रदेश (Uttarpradesh News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.