ताज़ा खबर
 

योगी के मंत्री का बयान- अयोध्‍या में राम मंदिर था, राम मंदिर है, अब केवल उसे भव्‍यता देनी है

कांग्रेस पर तीखे हमले करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने सत्ता की भूख में देश का विभाजन कराने के साथ ही दंगे और जातीय संघर्ष कराए।

Author June 1, 2017 8:11 PM
उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने आज यहां कहा कि अयोध्या में राम मंदिर था और मन्दिर है, अब केवल मन्दिर को भव्यता प्रदान करनी है। उन्होंने मन्दिर निर्माण का विरोध करने वालों से राजनीतिक विरोध छोड़ने को भी कहा। शर्मा ने गुरुवार (1 जून) को यहां संवाददाताओं से कहा कि राम मंदिर करोड़ों लोगों की आस्था से जुड़ा हुआ है। इलाहाबाद उच्च न्यायालय राम मंदिर के पक्ष में निर्णय दे चुका है। उच्चतम न्यायालय ने भी कहा है कि यह आस्था का विषय है।

भाजपा नेता विनय कटियार की सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के खिलाफ राम भक्तों पर गोली चलवाने को लेकर मुकदमा दर्ज कराने की मांग पर पूछे गए सवाल पर मंत्री ने कहा कि यह मामला न्यायालय में है, फिर भी सरकार इसका संज्ञान लेगी। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की सपा और बसपा को एक मंच पर लाने की पहल पर उन्होंने कहा कि देश से कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो चुका है, कांग्रेस के साथ ही सपा एवं बसपा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लड़ाई नहीं लड़ सकते, इसीलिए हताशा में ये दल एकजुट हो रहे हैं।

शर्मा ने कहा कि तीनों दल इकट्ठे होकर भी मोदी और योगी का मुकाबला नहीं कर सकते। कांग्रेस पर तीखे हमले करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने सत्ता की भूख में देश का विभाजन कराने के साथ ही दंगे और जातीय संघर्ष कराए। कांग्रेस अब हताश होकर केरल में गाय का सरेआम वध कराकर भोजन के रूप में गाय का मांस परोस रही है। उत्तर प्रदेश में बिगड़ती कानून एवं व्यवस्था को लेकर पूछे गए एक सवाल के जबाब में उन्होंने सपा की पिछली सरकार को इसका गुनाहगार करार दिया।

उन्होंने कहा कि विरोधी दल योगी सरकार को बदनाम करने का षड्यंत्र कर रहे हैं। विरोधी दल के नेताओं के चेहरे से बहुत जल्द ही नकाब उतरेगा। प्रदेश में अभियान चलाकर अपराधियों को चिन्हित किया जा रहा है, इसका परिणाम बहुत जल्द दिखाई देगा।

देखिए वीडियो - टॉप 5 हेडलाइंस: अयोध्या पहुंचे योगी, मवेशियों की खरीद-फरोख्त पर एक महीने की रोक,और अन्य खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App