yogi government minister attacked on his own government in basti overbridge collapsed accident - बस्ती में पुल गिरने की घटना पर योगी के मंत्री बोले- सरकार के सिर्फ ड्राइवर बदले हैं, मशीन नहीं - Jansatta
ताज़ा खबर
 

बस्ती में पुल गिरने की घटना पर योगी के मंत्री बोले- सरकार के सिर्फ ड्राइवर बदले हैं, मशीन नहीं

मीडिया से बातचीत में राजभर ने कहा, सरकार के सिर्फ ड्राइवर बदल गए हैं। लेकिन इंजन और मशीनरी वही है। खराब मशीन को ठीक करने में वक्त लगता है। जब ऐसी घटनाएं होती हैं, तभी सरकार की सक्रियता बढ़ जाती है। ​जैसे बाढ़ आने पर नदियों में पानी बढ़ जाता है।

उत्तर प्रदेश के मंत्री ओमप्रकाश राजभर (फोटो सोर्स- फाइल फोटो)

यूपी के बस्‍ती जिले में शनिवार को नेशनल हाइवे 28 पर निर्माणाधीन फ्लाईओवर का डेक स्लैब गिरने से चार मजदूर घायल हो गए थे। इस फ्लाइओवर का निर्माण केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय के द्वारा कराया जा रहा था। लेकिन अब इस घटना पर यूपी सरकार के मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने निशाना साधा है।

मीडिया से बातचीत में राजभर ने कहा, सरकार के सिर्फ ड्राइवर बदल गए हैं। लेकिन इंजन और मशीनरी वही है। खराब मशीन को ठीक करने में वक्त लगता है। जब ऐसी घटनाएं होती हैं, तभी सरकार की सक्रियता बढ़ जाती है। ​जैसे बाढ़ आने पर नदियों में पानी बढ़ जाता है। धीरे—धीरे एक-दो महीने के बाद पानी उतर जाता है। तब बाढ़ और तेजी भी खत्म हो जाती है। हादसे का कारण सरकार नहीं है। काम करने वाली लापरवाह एजेंसियां हैं।”

वैसे बता दें कि बस्ती से पहले वाराणसी में भी ऐसी ही घटना हो चुकी है। 15 मई को वाराणसी में हुए फ्लाइओवर हादसे में 18 लोगों की मौत हुई थी। योगी सरकार ने इस मामले की जांच के लिए विशेष जांच दल का गठन किया था। इसके अलावा हादसे का जिम्मेदार मानते हुए सेतु निगम के कई अफसरों पर भी कार्रवाई की गई थी। वाराणसी हादसे में जिम्मेदार 7 इंजीनियरों और एक ठेकेदार को पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

बस्ती में हुए मामले की उच्च स्तरीय जांच का ऐलान किया गया है। ये घटना शनिवार (11 अगस्त) की सुबह तकरीबन 7.30 बजे हुई थी। फुटहिया ओवरब्रिज का निर्माण तकरीबन 80 फीसदी से ज्यादा हो चुका था। लेकिन अचानक यह ब्रिज ढह गया। घटना की सूचना के बाद मौके पर जिले के डीएम राजशेखर पहुंचे और जांच के निर्देश दे दिए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्काल राहत कार्य शुरू करने और यातायात सुचारू कराने के निर्देश दिए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App