ताज़ा खबर
 

योगी सरकार के मुस्लिम मंत्री ने करवाया शादी का रजिस्ट्रेशन, पत्नी संग भगवा शॉल ओढ़कर पहुंचे

मोहसिन रजा का निकाह 16 साल पहले 2001 में हुआ था।
उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा सभी धर्मों के लोगों की शादी का पंजीकरण अनिवार्य किए जाने के बाद मोहसिन रजा ने अपने निकाह का पंजीकरण कराया। (फोटो- ट्विटर)

उत्तर प्रदेश के अल्पसंख्यक, हज और वक्फ राज्यमंत्री मोहसिन रजा ने सोमवार (08 जनवरी) को अपने निकाह का रजिस्ट्रेशन करवाकर उसका प्रमाण पत्र हासिल किया। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा सभी धर्मों के लोगों की शादी का पंजीकरण अनिवार्य किए जाने के बाद मोहसिन रजा ने ऐसा किया। इसके लिए वो सोमवार को पत्नी फौजिया सरवर फातिमा के साथ लखनऊ के एडिशनल डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट अनिल कुमार के दफ्तर पहुंचे थे। उनके साथ तीन गवाह भी थे। मंत्री रजा ने भगवा रंग का शॉल भी ओढ़ रखा था। एडिशनल मजिस्ट्रेट ने कागज देखने के बाद उनके निकाह को पंजीकृत कर उन्हें इसका प्रमाण पत्र भी सौंपा। मंत्री ने कहा कि उनकी इस पहल का समाज पर सकारात्मक असर पड़ेगा।

बता दें कि मोहसिन रजा का निकाह 16 साल पहले 2001 में हुआ था लेकिन उन्होंने अगस्त 2017 में उसका रजिस्ट्रेशन कराने का आवेदन दिया था लेकिन तय समय सीमा 90 दिनों के अंदर पंजीयन अधिकारी के सामने उपस्थित होकर सर्टिफिकेट प्राप्त करने नहीं आ सके। इस वजह से उनका आवेदन खारिज कर दिया गया था। इसके बाद 24 नवंबर, 2017 को उन्होंने दोबारा आवेदन दिया था। इस बार मंत्री समय सीमा के अंदर पत्नी और गवाहों के साथ पहुंचे थे। सारी प्रकियाओं को पूरा करने के बाद अंत में उनका निकाह पंजीकृत कर उसका प्रमाण पत्र उन्हें दे दिया गया।

एडिशनल मजिस्ट्रेट अनिल कुमार ने बताया कि सारी वैधानिक औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद मंत्री मोहसिन रजा और उनकी पत्नी फौजिया सरवर फातिमा का निकाह पंजीकृत कर उन्हें इसका प्रमाण पत्र सौंप दिया गया। उन्होंने बताया कि रजा के साथ गवाह के तौर पर उनके परिजनों के साथ उनके अधिवक्ता भी साथ थे। बता दें कि हाल ही में योगी आदित्यनाथ कैबिनेट ने उत्तर प्रदेश विवाह पंजीकरण दिशा-निर्देश 2017 को मंजूरी दी थी। इस नियम के तहत राज्य में रह रहे सभी धर्मों के लोगों को अपनी शादी का पंजीकरण कराना अनिवार्य कर दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.