ताज़ा खबर
 

यूपी: महीने भर काम के बदले सिर्फ 6 रुपये वेतन मिला, शख्‍स ने लगाई फांसी

मामला सिकंदरा थाना क्षेत्र का है। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, कर्मचारी की आयु 30 साल की है। बुधवार सुबह कारीगर ने फैक्ट्री पहुंचने के बाद खुद को छत से लटकाने की कोशिश की।

चित्र का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

यूपी के आगरा में एक जूता कारीगर ने फांसी लगाकर जान देने की कोशिश की है। कारीगर मासिक सैलरी के तौर पर सिर्फ 6 रुपये मिलने से बेहद तनाव में था। इसी वजह से उसने बुधवार सुबह फैक्ट्री के अंदर ही फांसी लगाकर जान देने की कोशिश की। मामला सिकंदरा थाना क्षेत्र का है। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, कर्मचारी की आयु 30 साल की है। बुधवार सुबह कारीगर ने फैक्ट्री पहुंचने के बाद खुद को छत से लटकाने की कोशिश की। हालांकि, उसे समय रहते उसके साथियों ने देख लिया। जिन्होंने उसे बचाया और पास के अस्पताल में भर्ती करवाया। जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

टाइम्स आॅफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, सिकंदरा थाना क्षेत्र के थानाध्यक्ष अजय कौशल ने बताया कि, आत्महत्या की कोशिश करने वाला शख्स बीते कई सालों से लगातार फैक्ट्री में काम कर रहा था। वह लगातार तनाव में भी था। बीते 27 जुलाई 2018 को उसका सड़क पर एक्सीडेंट हुआ था। इसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। उसके अस्पताल के सभी बिल फैक्टरी के मालिक ने भर दिए थे। चोटों से उबरने के बाद जब वह फैक्टरी पहुंचा और अपने वेतन की मांग की तो फैक्ट्री मालिक ने उसे 6 रुपये दे दिए।”

पुलिस के मुताबिक, कर्मचारी ने फैक्ट्री मालिक को समझाने की बहुत कोशिश की कि वह उसकी तनख्वाह में से काटकर किश्तों में पैसे ले ले। लेकिन फैक्ट्री मालिक ने किसी भी समझौते से कथित तौर पर इंकार कर दिया। इसके बाद कर्मचारी ने अपनी जिंदगी खत्म करने का फैसला कर लिया। इसके बाद पुलिस ने मामले में दखल दिया और मामले को सुलझाने में मदद की। फैक्ट्री मालिक किश्तों में पैसा लेने के लिए मान गया। हालांकि अभी तक इस मामले में रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई है। वहीं जूता फैक्ट्री के मालिक ने भी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App