ताज़ा खबर
 
  • राजस्थान

    Cong+ 94
    BJP+ 80
    RLM+ 0
    OTH+ 25
  • मध्य प्रदेश

    Cong+ 107
    BJP+ 110
    BSP+ 8
    OTH+ 5
  • छत्तीसगढ़

    Cong+ 60
    BJP+ 21
    JCC+ 8
    OTH+ 1
  • तेलांगना

    TRS-AIMIM+ 89
    TDP-Cong+ 22
    BJP+ 2
    OTH+ 6
  • मिजोरम

    MNF+ 29
    Cong+ 6
    BJP+ 1
    OTH+ 4

* Total Tally Reflects Leads + Wins

बुलंदशहर हिंसा के बाद पश्चिमी यूपी के ‘राम भक्तों’ की रैली निकालेगा विहिप

संसद का शीत कालीन सत्र शुरू होने वाला है। इसे लेकर धर्म संसद से सरकार पर राम मंदिर के लिए विधेयक लाने का दबाव बनाया जाएगा। रैली में करीब 2 लाख राम भक्तों के पहुंचने की संभावना है।

रैली में करीब 2 लाख राम भक्तों के पहुंचने की संभावना है। (फोटो सोर्स : Express archive photo)

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की मांग को धार देने के लिए विश्व हिंदू परिषद एक और भव्य रैली निकालने जा रहा है। धर्म संसद के नाम से होने वाली यह रैली रविवार (9 दिसंबर) को दिल्ली के राम लीला मैदान पर होगी। इसमें लाखों की संख्या में राम भक्त जुटने की संभावना जताई जा रही है। रैली में उत्तर प्रदेश के मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, बुलंदशहर, हापुड़, बागपत, मथुरा, अलीगढ़, हाथरस, बिजनौर मुजप्फरनगर और शामली से भारी संख्या में समर्थक जुटेंगे। इसके चलते दिल्ली पुलिस को अलर्ट पर रखा गया है।

बीते दिनों बुलंदशहर में हुई गोकशी की अफवाह पर फैली हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई थी। बुलंदशहर हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह और स्थानीय युवक सुमित की गोली लगने से मौत हुई थी। वहीं, संसद का शीत कालीन सत्र शुरू होने वाला है। इसे लेकर धर्म संसद से सरकार पर राम मंदिर पर विधेयक लाने का दबाव बनाया जाएगा। बताया जा रहा है कि रैली में जुटने वाले राम भक्त लाल किला और राजघाट की ओर से पैदल ही सभा स्थल तक जाएंगे।

धर्म संसद को लेकर विश्व हिंदू परिषद के एक सदस्य ने बताया कि, रैली में करीब 2 लाख राम भक्तों के पहुंचने की संभावना है। इनके स्वागत के लिए विहिप स्वागत द्वार बनवाएगा। जो दिल्ली में एंट्री के 15 रास्तों पर लगाए जाएंगे। साथ ही दिल्ली पहुंचते ही सभी को खाना और पानी दिया जाएगा। राम भक्तों को लाने के लिए करीब 1500 बसों को लगाया जाएगा। वहीं यहां आने वाले साधु और संतों से अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए विधेयक पर भी बात होगी। उन्होंने बताया कि, धर्म संसद के मद्देनजर दिल्ली के लोगों को सुनने और देखने के लिए अलग अलग जगहों पर भगवान राम के हजारों कट आउट और एलईडी स्क्रीन लगाए जाएंगे।

इकनॉमिक टाइम्स की खबर के मुताबिक, विश्व हिंदू परिषद के प्रवक्ता विनोद बंसल ने दावा किया कि, धर्म संसद रैली उन सभी की सोच को बदलेगी जिन्हें लगता है कि अयोध्या में राम मंदिर के जल्द निर्माण के लिए शीत कालीन सत्र में बिल नहीं लाया जा सकता। उन्होंने कहा, इस रैली के लिए युवाओं में बहुत उत्साह है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App