ताज़ा खबर
 

महामना एक्सप्रेस: सफर के पहले दिन ही यात्री उड़ा ले गये नल, कारपेट और शीशे, पीएम ने दिखाई थी हरी झंडी

ट्रेन में लगाये गये चार हैंड शॉवर्स, और दो कारेपट भी अपनी जगह से गायब थे। इसके अलावा ट्रेन के टॉयलेट और सीटों की हालत बेहद खराब हो गई थी।

Mahamana Express, Varanasi-Vadodara Mahamana Express, Mahamana Express flagged off by Prime Minister Narendra Modi, Taps, Carpet, Mirrors, Railway ministry, piyush goel, banaras, वाराणसी, महामना एक्सप्रेस, वाराणसी वडोदरा महामना एक्सप्रेस, hindi news, latest hindi news, jansattaमहामना एक्सप्रेस का उदघाटन पीएम नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार (22 सितंबर) को किया था। (फोटो- twitter)

इंडियन रेलवे के वीआईपी ट्रेनों में शुमार वाराणसी-वडोदरा महामना एक्सप्रेस अपने सफर के पहले दिन ही भारतीय मानसिकता से रु-बरु हुई। रविवार को जब ट्रेन वाराणसी से वडोदरा लौटी तो यार्ड के अधिकारी ये देखकर हैरान थे कि जनरल कोच के तीन शौचालयों के नल गायब थे। ट्रेन में लगाये गये चार हैंड शॉवर्स, और दो कारेपट भी अपनी जगह से गायब थे। इसके अलावा ट्रेन के टॉयलेट और सीटों की हालत बेहद खराब हो गई थी। इस नयी ट्रेन के सीट पर स्क्रैच लगा हुआ था और कोच के शीशे लगभग टूटे हुए थे। शुक्रवार (22 सिंतबर) को पीएम नरेन्द्र मोदी ने वाराणसी से इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाई थी। रेलवे अधिकारियों को इस बावत कोई जानकारी नहीं है कि ट्रेन की ऐसी हालत किसने की? लेकिन उनका मानना है कि इन घटनाओं के लिए ट्रेन के पैसेंजर जिम्मेदार हैं।

बता दें कि पीएम नरेन्द्र मोदी का स्वच्छता अभियान पर काफी जोर है। पीएम मोदी ट्रेनों को भी स्वच्छ और सुंदर बनाने पर जोर देते हैं। रेल मंत्रालय उनकी इस मुहिम को आगे बढ़ाने में लगा है। लेकिन ऐसा लगता है रेल यात्री पीएम की अपील को तवज्जो नहीं दे रहे हैं। इंडियाटाइम्स डॉट कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक पश्चिमी रेलवे के मुख्य जन संपर्क अधिकारी रविन्दर भास्कर ने कहा कि रेलवे यात्रियों को आधुनिक सुविधाएं मुहैया कराने की भरपूर कोशिश कर रहा है। लेकिन ये बेहद शर्मनाक और दुखदायी है कि कुछ लफंगे किस्म के यात्री ट्रेनों में भी चोरी करते हैं और नल और शॉवर्स जैसी चीजों पर भी हाथ साफ कर जाते हैं। रेलवे के मुताबिक सफर के बाद कोच की हालत भी काफी गंदी थी।

महामना एक्सप्रेस भारतीय रेल को एक नया और साफ सुथरा चेहरा देने के मकसद से लॉन्च किया गया था। इस ट्रेन का नामकरण बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के संस्थापक महामना मदन मोहन मालवीय के नाम पर रखा गया है। इससे पहले मई में लॉन्च हुए तेजस एक्सप्रेस में भी यात्रियों ने ऐसी ही हरकतें की थी और मुंबई गोवा तेजस सुपरफास्ट एक्सप्रेस से कई हेडफोन्स चुरा लिये थे। और एलईडी स्क्रीन को भी तोड़ दिया था।

Next Stories
1 BHU के वीसी जीसी त्रिपाठी ने यौन उत्पीड़न के “दोषी” को बनाया यूनिवर्सिटी अस्पताल का प्रमुख
2 3 पेज की एफआईआर से खुलासा, बीएचयू में छेड़छाड़ का कितना खौफनाक रूप
3 BHU हिंसा: नैतिक जिम्‍मेदारी लेते हुए चीफ प्रॉक्‍टर का इस्‍तीफा, वीसी ने किया मंजूर
ये पढ़ा क्या?
X