ताज़ा खबर
 

योगी आदित्यनाथ का अयोध्या में राम की प्रतिमा लगाने का ऐलान, साथ में बोले- यहां मंदिर था और रहेगा

योगी के मुताबिक, सरकार संविधान के दायरे में रहकर राम मंदिर के निर्माण का रास्ता निकालेगी। सीएम के मुताबिक, इस मुद्दे पर संतों का भी समर्थन हासिल है।

योगी ने अयोध्या में मीडिया से बातचीत में कहा कि अयोध्या की पहचान भगवान राम से है। (ANI PHOTO)

फैजाबाद जिले का नाम अयोध्या करने का ऐलान करने के एक दिन बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को एक और बड़ी घोषणा की। उन्होंने ऐलान किया कि अयोध्या में भगवान श्रीराम की एक बड़ी मूर्ति बनाई जाएगी। योगी ने अयोध्या में मीडिया से बातचीत में कहा कि अयोध्या की पहचान भगवान राम से है। उन्होंने कहा, ‘लोग अयोध्या में भगवान राम के दर्शन और स्मरण के लिए आते हैं और मूर्ति से यह मकसद पूरा होगा।’ सीएम ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के मुद्दे पर कहा, ‘मंदिर था, है और रहेगा।’ योगी के मुताबिक, सरकार संविधान के दायरे में रहकर राम मंदिर के निर्माण का रास्ता निकालेगी। सीएम के मुताबिक, इस मुद्दे पर संतों का भी समर्थन हासिल है। इससे पहले, योगी अयोध्या में उस जगह गए जहां राम की मूर्ति प्रस्तावित है। इसके अलावा वह हनुमान गढ़ी और कनक भवन भी गए। बता दें कि अटकलें हैं कि अयोध्या में प्रस्तावित मंदिर की ऊंचाई 151 मीटर तक होगी।

बता दें कि दिवाली की पूर्व संध्या पर मंगलवार को सरयू नदी के तट पर एक साथ तीन लाख से ज्यादा दीये जलाकर अयोध्या में नया विश्व रिकार्ड भी बनाया गया था। गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड के आधिकारिक निर्णायक रिषि नाथ ने यहां घाट पर दीपोत्सव के दौरान रिकार्ड बनाए जाने की घोषणा की। इस दौरान उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किम जुंग सुक की मौजूदगी में रिषि नाथ ने कहा, ‘‘पांच मिनट तक एक साथ कुल 3,01,152 दीये जले। यह नया रिकार्ड है।’’ राम की पैडी के दोनों तरफ घाट पर कुल 3.35 लाख दीये जलाने का लक्ष्य तय किया गया था। नये रिकार्ड को ‘‘अदभुत’’ बताते हुए रिषि नाथ ने कहा, ‘‘इसने हरियाणा में 2016 में बनाये गए रिकार्ड को तोड़ दिया। वहां पर 1,50,009 दीये जलाए गए थे।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App