ताज़ा खबर
 

बीएचयू के वीसी गिरिश चंद्र त्रिपाठी की धमकी- जबरन छुट्टी पर भेजा तो दे दूंगा इस्तीफा

त्रिपाठी का कार्यकाल 30 नवंबर को खत्म हो रहा है।
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर गिरिश चंद्र त्रिपाठी।

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की एक छात्रा के साथ कथित तौर पर छेड़छाड़ के बाद पैदा हुए विवाद के बीच वाइस चांसलर गिरिश चंद्र त्रिपाठी ने धमकी दी है कि अगर उन्हें जबरन छुट्टी पर भेजा गया तो इस्तीफा दे देंगे। त्रिपाठी का कार्यकाल 30 नवंबर को खत्म हो रहा है। त्रिपाठी ने साथ ही कहा कि अभी तक मानव संसाधन मंत्रालय ने उन्हें जबरन छुट्टी पर जाने के लिए कोई निर्देश नहीं दिए हैं। त्रिपाठी ने कहा, ‘इस तरह की कोई जानकारी मेरे पास नहीं है। घटना के पहले दिन से मैं मानव ससाधन मंत्री प्रकाश जावेड़कर के संपर्क में हूं। उन्हें मैंने हालात और इनसे निपटने के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी दी है। लेकिन अगर मुझे छुट्टी पर जाने के लिए कहा जाता है तो मैं इस्तीफा दे दूंगा।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने यूनिवर्सिटी के लिए बहुत काम किया है। कार्यकाल खत्म होने से दो महीने पहले मुझे जबरन छुट्टी पर भेजना, मेरे लिए बेइज्जती होगी। मैं इस्तीफा देना पसंद करूंगा।’

हालांकि, मानव संसाधन मंत्रालय ने नए वाइस चांसलर के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है। मंत्रलाय के अधिकारियों का कहना है कि जब यूनिवर्सिटी में हालात ठीक नहीं हैं, ऐसे में नए वीसी की नियुक्ति की प्रक्रिया एकमात्र ‘संयोग’ है।

बता दें, एक छात्रा के साथ यूनिवर्सिटी में छेड़छाड़ होने के बाद बाद छात्राओं ने प्रदर्शन शुरू कर दिया था। छात्राओं ने वीसी निवास के बाहर इकट्ठे होकर प्रदर्शन किया था। उसके बाद प्रदर्शन कर रही छात्राओं को हटाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। लाठीचार्ज में कई छात्राएं गंभीर रूप से घायल हो गई थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस ने हॉस्टल में घुसकर छात्राओं और स्टाफ के साथ मारपीट की। इसके बाद वीसी त्रिपाठी ने आरोप लगाया था कि यूनिवर्सिटी में जो भी कुछ हुआ, वह बाहरी लोगों की वजह से हुआ है। उन्होंने कहा कि बाहरी लोगों ने यूनिवर्सिटी की छात्राओं को भड़काया है।

यूनिवर्सिटी के चीफ प्रॉक्टर ने यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए मंगलवार रात इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद गुरुवार को एनाटॉमी विभाग की प्रोफेसर रोयाना सिंह को यूनिवर्सिटी की चीफ प्रॉक्टर बनाया गया है। फ्रांस में पैदा हुईं सिंह यूनिवर्सिटी की महिला शिकायत सेल की चेयरपर्सन भी हैं। ऐसा बीएचयू के 101 साल के इतिहास में पहली बार हुआ है कि किसी महिला को चीफ प्रॉक्टर के पद पर नियुक्त किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. V
    vinodyadav
    Sep 28, 2017 at 10:31 pm
    कमेंट तो इनके न्यूज़ में ही है ?यूनिवर्सिटी के चीफ प्रॉक्टर ने यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए मंगलवार रात इस्तीफा दे दिया था।
    (0)(0)
    Reply