ताज़ा खबर
 

बीएचयू: यहां लड़कियों को छेड़ना कहलाता है- ‘लंकेटिंग’

बीएचयू कैंपस के आसपास घुमने वाले गुंडे किस्म के लोग लड़कियों को तंग और परेशान करने के लिए 'लंकेटिंग' शब्द का इस्तेमाल करते हैं।

BHU, BHU protest, BHU harassment, lanketing, BHU girl student, Banaras Hindu University, Lanka market, pm narendra modi, Mahila Mahavidyalaya, Banaras news, varanasi news, hindi news, latest hindi news, uttar pradesh news, jansattaवाराणसी: BHU में छात्राओं पर लाठी चार्ज के बाद यूनिवर्सिटी के मुख्य द्वार के बाहर तैनात सुरक्षाकर्मी (फोटो-पीटीआई 25-0917)

बनारस स्थित बीएचयू में छात्राओं के साथ छेड़खानी, कमेंट्स और उनपर गंदी टिप्पणियां कैम्पस लाइफ का हिस्सा बन चुकी है। कई छात्राओं ने इसे रोज की रुटीन का हिस्सा मान लिया है और वे इसे सहन करती हैं, नजरअंदाज करती हैं। कुछ मुखर लड़कियां इस अत्यातार के खिलाफ आवाज भी उठाती हैं। लेकिन बीएचयू कैंपस के आस-पास ये घटनाएं रोजाना की जिंदगी में शामिल हो चुकी हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक बीएचयू कैंपस में लड़कियों की छेड़खानी के लिए शोहदों ने बकायदा एक टर्म बना लिया है और इसे ‘लंकेटिंग’ के नाम से जाना जाता है। ‘लंकेटिंग’ शब्द बीएचयू के सिंह द्वार गेट के पास स्थित लंका बाजार के नाम पर बना है। बीएचयू कैंपस के आसपास घुमने वाले गुंडे किस्म के लोग लड़कियों को तंग और परेशान करने के लिए ‘लंकेटिंग’ शब्द का इस्तेमाल करते हैं।

लंका बाजार में कैफे, नाश्ते की दुकानें और बड़ी संख्या में कपड़े की दुकाने हैं। इन इलाकों में बाइक पर सवार लफंगे छात्राओं और महिलाओं का पीछा करते, उन पर अश्लील कमेंट्स करते नजर आ जाएंगे। बीएचयू के एक मात्र वूमेंस कॉलेज महिला महाविद्यालय के आस पास भी ऐसे सड़क छाप मजनुओं की भरमार दिखती है। इन घटनाओं की वजह से इस इलाके में अक्सर झगड़े और मार पीट होते रहते हैं। नाम ना बताने की शर्त पर एक छात्रा ने कहा कि जब भी हम इस बाजार की ओर जाते हैं हम ग्रुप बनाकर निकलते हैं या फिर अपने साथ किसी लड़के को जाने कहते हैं। इन इलाकों में छेड़खानी की आशंका हर वक्त रहती है। कुछ और छात्राओं का कहना है कि वे ऐसी घटनाओं को बर्दाश्त कर जाती हैं, क्योंकि इन वाकयों को रिपोर्ट करने पर उलटे बदनामी का खतरा रहता है।

हालांकि कुछ स्टूडेंट्स का कहना है कि ‘लंकेटिंग’ को छेड़खानी से जोड़कर इलाके को बदनाम किया जा रहा है। छात्र-छात्राओं का मत है कि ‘लंकेटिंग’ का मतलब चाय-नाश्ता करता और घुमने फिरने जाना है। इसे छेड़खानी से जोड़ना गलत है। कुछ लड़कियों का कहना है कि उन्हें इतना पता होता है कि कौन सा इलाका उनके लिए सुरक्षित और कौन सा नहीं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बनारस में तीस्ता सीतलवाड़ पुलिस ने हिरासत में लिया, कहा- …जब से आई हूं सुन रही हूं बीएचूय जाओगी?
2 BHU में छात्राओं पर लाठीचार्ज के मामले में अधिकारी नपे, 1000 से ज्‍यादा छात्रों के खिलाफ FIR
3 BHU में छेड़छाड़ का विरोध कर रही छात्राओं पर योगी की पुलिस ने बरसाईं लाठियां, यूनिवर्सिटी 2 अक्‍टूबर तक बंद
ये पढ़ा क्या?
X