ताज़ा खबर
 

नवरात्रि में उत्‍तर प्रदेश को मिलेगी 24 घंटे बिजली सप्‍लाई, योगी आदित्‍य नाथ सरकार ने जारी किए आदेश

सरकार ने अधिकारियों से कहा कि वे गर्मियों के लिए तैयारी शुरू करें तथा ओवरलोडेड ट्रांसफार्मरों का ध्यान रखें।

Author March 23, 2017 20:28 pm
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ। (PTI Photo)

उत्तर प्रदेश सरकार ने बिजली विभाग के अधिकारियों को आज निर्देश दिया कि नवरात्रि के दौरान बलरामपुर, मिर्जापुर, अयोध्या, काशी, मथुरा और गोरखपुर जैसे धार्मिक नगरों में 24 घंटे बिजली आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। राज्य के बिजली मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कार्यभार संभालने के बाद विभाग के अधिकारियों के साथ पहली बैठक में ये निर्देश दिये। शर्मा ने कहा, ‘‘नवरात्रि के दौरान मिर्जापुर और बलरामपुर जैसे जिलों की प्रसिद्ध शक्तिपीठों के साथ साथ काशी, मथुरा, अयोध्या और गोरखपुर में 24 घंटे बिजली आपूर्ति होनी चाहिए।’’ विभाग से भ्रष्टाचार समाप्त करने के प्रयास के तहत शर्मा ने ‘ई-निविदा’ प्रणाली अपनाने का निर्देश दिया। साथ ही कहा कि फाइलों के समय पर निस्तारण और व्यवस्था को पारदर्शी बनाने के लिए सिटीजन चार्टर बनाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार को जरा भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। साथ ही अधिकारियों से कहा कि वे गर्मियों के लिए तैयारी शुरू करें तथा ओवरलोडेड ट्रांसफार्मरों का ध्यान रखें।

उधर, राज्य के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने भी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे भाजपा के चुनावी घोषणापत्र में दी गयी सरकार की प्राथमिकताओं के अनुरूप योजनाओं के कार्यान्वयन का रोडमैप तैयार करें। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पार्टी ने पहली कैबिनेट बैठक में किसानों का कर्ज माफ करने का वायदा किया है। रोडमैप में इसका ध्यान रखा जाएगा।

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍य नाथ ने बुधवार (22 मार्च) को लखनऊ में लाल बहादुर शास्‍त्री भवन का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान वे भवन की हालत को लेकर नाराज नजर आए। इस निरीक्षण के बाद ही उन्‍होंने कर्मचारियों के सरकारी दफ्तरों में पान मसाला और पान खाने पर रोक लगाने का आदेश जारी कर दिया। आदित्‍य नाथ ने वहां मौजूद अधिकारियों से मौखिक रूप से भी कहा कि वे ड्यूटी पर रहने के दौरान पान और पान मसाला ना खाएं।

यूपी में योगी आदित्‍य नाथ की सरकार बनने के बाद से अब तक, चार दिनों में 100 से ज्‍यादा पुलिसकर्मियों को सस्‍पेंड किया जा चुका है। इसे सीएम द्वारा कानून-व्‍यवस्‍था को चाक-चौबंद बनाने के उद्देश्‍य से की गई कार्रवाई बताया जा रहा है। सस्‍पेंड किए गए पुलिसकर्मियों में से ज्‍यादातर गाजियाबाद, मेरठ और नोएडा के हैं। राजधानी लखनऊ के सात इंस्‍पेक्‍टरों को डीजीपी जावेद अहमद के निर्देश पर हटाया गया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जुड़ी 10 बातें:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App