ताज़ा खबर
 

बरेली में दिखे भाजपा सांसद के नाम से लगे पोस्टर, मुसलमानों को दिया 9 महीने में गांव छोड़ने का अल्टिमेटम

बरेली के एक गांव में लगाए गए इन पर्चों पर लिखा है कि अमेरिका में मुसलमानों के साथ जो डोनाल्ड ट्रंप कर रहे हैं, वहीं हम करेंगे।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिले प्रचंड बहुमत के बाद बरेली जिले के एक गांव में मुसलमानों को गांव छोड़कर चले जाने की धमकी देने वाले पोस्टर देखने को मिले हैं। बरेली से 70 किलोमीटर दूर स्थित जियांगला गांव में ऐसे पोस्टर करीब दो दर्जन जगहों पर लगाए गए थे। इसके बाद गांव में तनाव फैल गया। इन पर्चों पर हिंदी में लिखा है, ‘उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार आ गई है। अब गांव के हिंदू वहीं करेंगे जो कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपने देश में मुसलमानों के साथ कर रहे हैं।’

इन पर्चों में गांव के मुसलमानों को इस साल के अंत तक छोड़कर चले जाने के लिए कहा गया है। पोस्टर पर एक भाजपा सांसद का नाम भी लिखा हुआ है। ज्यादातर पोस्टर पुलिस और प्रशासन ने हटा दिए हैं, लेकिन कुछ पोस्टर अभी भी दीवारों पर चिपके हुए हैं। सभी पर्चों पर एक जैसे संदेश लिखे हुए थे। इनमें यह भी धमकी दी गई है कि अगर साल के अंत तक मुसलमान गांव छोड़कर नहीं जाते हैं तो उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। इन पर्चों को सोमवार सुबह देखा गया था। गांव वालों का कहना है कि उन्हें नहीं पता कि यह किसने किया है।

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया ने ग्राम प्रधान रेवा राम के हवाले से लिखा है, ‘हम लोग आधी रात के करीब सोने गए थे। जब सुबह हुई तो हमने देखा कि पूरे गांव में ऐसे पोस्टर लगे हुए। जब कुछ गांव वालों ने विरोध जताया तो हमने पुलिस को इस बारे में जानकारी दी।’ अधिकारियों का कहना है पुलिस ने इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और गांव के पांच लोगों को पूछताछ के लिए अपनी हिरासत में लिया है। गांव में पुलिस बल भी तैनात किया गया है। इस गांव में करीब 2500 लोग रहते हैं, जिनमें 200 मुस्लिम हैं। गांव वालों का कहना है कि ऐसा पहले कभी भी नहीं हुआ है, हम सब लोग यहां शांति और भाईचारे के साथ रहते हैं।

वीडियो- 2050 तक भारत में होंगे सबसे ज्यादा मुस्लिम!

रिपोर्ट में लिखा गया है कि जिला प्रशासन के उच्च अधिकारियों सहित पुलिस अधिकारियों ने गांव का दौरा किया, लेकिन अभी यह पता नहीं लग पाया है कि यह किसने किया। रिपोर्ट में बरेली से एसपी(ग्रामीण) यमुना प्रसाद के हवाले से लिखा गया है, ‘हम लोग गांव के उन युवाओं से पूछताछ कर रहे हैं जो कि गांव में प्रिंटिंग और फोटोस्टेट का काम करते हैं, लेकिन अभी हम किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंचे हैं।’

वीडियो- भाजपा सांसद साक्षी महाराज बोले- "मुस्लिम भी दाह करें, नहीं बनने चाहिए कब्रिस्तान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App